लोगों को प्रेरित करें परिवार नियोजन के लिए

समाहरणालय स्थित सभा कक्ष में मंगलवार को डीएम नवीन कुमार की अध्यक्षता में 21 नवम्बर से 04 दिसम्बर तक आयोजित होने वाले पुरूष नसबंदी पखवाड़ा की सफलता के लिए कार्यशाला का आयोजन किया गया। डीएम ने कहा कि विभिन्न स्तरों पर किए जा रहे अध्ययनों व सर्वेक्षणों में यह बात उभरकर सामने आई है कि परिवार नियोजन की अनदेखी करने में अशिक्षित परिवारों की भूमिका उल्लेखनीय रही है। उन्होंने कहा कि यह पता लगाया जाना चाहिए कि अन्य समाज की तुलना में महादलित व अति पिछड़े समाज में परिवार नियोजन की क्या स्थिति है। जब तक टारगेट फिक्स नहीं होगा राष्ट्रीय स्तर का यह अभियान अपने उद्देश्यों में पूरी तरह सफल नहीं हो सकता। उन्होंने संबंधित अधिकारियों व कर्मियों को संबंधित सामाजिक ग्रुप का ताजा सर्वे कर परिवार नियोजन के काम को सही तरीके से करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि सर्वे के बाद जो तथ्य उभरकर सामने आएंगे उसी अनुसार योजना क्रियान्वयन की दिशा व दशा तय की जानी चाहिए।
डीएम ने कहा कि विकास मित्र, आशा कार्यकत्ता, जीविका दीदी, आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका को निर्देश दिया कि वे इन टोलों में जा कर अधिक-से-अधिक लोगो के बीच प्रचार-प्रसार करें। उन्होंने कहा कि पुरूष नसबंदी के लिए पुरूषों को अधिक जागरूक करने की आवश्यकता है। इस कार्य के लिए जीविका ग्रुप को विशेष तौर पर लगाने का निर्देश दिया गया। कार्यशाला में बढ़ती आबादी को देखते हुए विभिन्न प्रकार के सूई, गर्भ निरोधक अन्य उपाय, पुरूष नशबंदी, महिला बंध्याकरण इत्यादि कार्यों को अपनाने पर बल दिया गया।
बैठक करते डीएम व अन्य अधिकारी।

महादलित टोलों में 28 नवंबर को लगेगा मेला
कार्यशाला में बताया गया कि 28 नवम्बर को पंचायतों के महादलित टोलों में इससे संबंधित मेले का आयोजन किया जा रहा है। साथ ही रैली, मेला इत्यादि के माध्यम से लोगो को जागरूक करने का कार्य किया जा रहा है। जिला पदाधिकारी ने निदेश दिया कि पंचायतों में लगने वाले मेले में पंचायत प्रतिनिधियों के साथ-साथ महिला पंचायत प्रतिनिधियों को अवश्य बुलाया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *