वामदलों की बैठक में 19 दिसंबर के बंद को ऐतिहासिक बनाने का निर्णय

जहानाबाद। भाकपा माले के जिला कार्यालय में सोमवार को वामदलो की बैठक में 19 दिसंबर को प्रस्तावित बिहार बंद को ऐतिहासिक बनाए जाने का निर्णय लिया गया।  नेताओं ने कहा कि देश व्यापी प्रबल जन विरोध के बावजूद नागरिकता संशोधन विधेयक अब कानून बन गया है। यह कानून पूरी तरह संविधान की मौलिक संरचना तथा आजादी के आंदोलन के संपूर्ण मूल्यबोध के खिलाफ है। देश का संविधान अपने नागरिकों को एक समान अधिकार प्रदान करता है। उनमें कोई भेदभाव नही करता है। नेताओं ने कहा कि मोदी-शाह का यह नया फरमान धर्म के आधार पर नागरिकता तय करता है। इसलिए यह घोर संविधान विरोधी है। वामदल के नेताओं ने कहा कि धार्मिक भेदभाव पर आधारित नागरिकता संशोधन कानून की सर्वाधिक मार देश के आम आवाम और सभी जाति समुदाय के गरीब तथा वंचित लोग पर ही पडने वाला है। इसके खिलाफ न्याय पसंद लोगों को उठ खड़ा होकर सडकों पर उतरकर अपने अधिकार को लेकर आवाज को बुलंद करना होगा। उनलोगों ने तमाम जन प्रिय लोगों से बंद को सफल बनाने की अपील की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *