सामाजिक कुरीतियों को समाप्त करने का लिया गया संकल्प

जहानाबाद। जल-जीवन-हरियाली, नशा मुक्ति, दहेज प्रथा एवं बाल विवाह उन्मूलन अभियान के समर्थन में रविवार को यहां के लोगों ने दिखा दिया कि जब आमजन सड़कों पर उतर आते हैं तो वे लोग इतिहास कायम कर देते हैं। मानव श्रृंखला के दौरान इस जिले में ऐसा ही हुआ। इस जिले के 226.5 किलोमीटर में छह लाख 70 हजार 300 लोग मानव श्रृंखला में भाग लिए। लोग जल-जीवन-हरियाली अभियान के संरक्षण, नशा मुक्ति, दहेज प्रथा एवं बाल विवाह को जड़ से मिटाने के लिए सड़कों पर मानव श्रृंखला के रूप में दिखे। उनमें अजीब का उत्साह, जोश, उमंग और संकल्प था। बच्चों में उनके उम्र से अधिक परिपक्वता का साक्षात ²श्य देखने को मिल रहा था। उनमें जल-जीवन-हरियाली के लिए भविष्य की तैयारी के लिए तत्परता थी, तो वर्तमान में सामाजिक कुरीतियों को समाप्त करने का जज्बा भी कायम था। इस अवसर पर राज्य सरकार के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा, सांसद चंद्रेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी, पूर्व मंत्री प्रो रामजतन सिन्हा, पूर्व सांसद डॉ जगदीश शर्मा, पूर्व मंत्री अभिराम शर्मा तथा राहुल कुमार के साथ ही भाजपा के जिलाध्यक्ष सुरेश कुमार शर्मा, जदयू के जिलाध्यक्ष चंदेश्वर बिद तथा लोजपा के जिलाध्यक्ष हेमंत शरण उर्फ कुंदन तो एक दूसरे का हाथ थामकर मानव श्रृंखला का समर्थन कर ही रहे थे बड़ी संख्या में एनडीए के स्थानीय नेता भी इस कार्यक्रम में मौजूद थे। जदयू के वरिष्ठ नेता प्रो गगन भूषण प्रसाद, पूर्व जिलाध्यक्ष शिववचन सिंह सन्यासी, जगदीश कुशवाहा, जिला पार्षद सुनिता कुमारी,लाला सिंह,नरेंद्र किशोर, संजय सिंह, टून्ना शर्मा, वैजनाथ शर्मा, अश्विनी कुमार शर्मा, अमित कुमार पमु,मेराज अहमद सुडू,भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष शशि रंजन, नरेश कुमार, पूनम सिन्हा, इंदु कश्यप, युवा मोर्च के जिलाध्यक्ष निरंजन कुमार बबलू, भाकपा के दीपक शर्मा, पूर्व मुखिया सप्पु सिंह, सुधीर कुमार, मनोरंजन कुमार विकु, सुधीर सिंह, मंटू कुमार, रानी कुमारी, अनिल ठाकुर,अमरेंद्र शर्मा, सुनिता कुमारी, विजय सत्कार, रेड क्रॉस सोसायटी के चेयरमैन डॉ सत्येंद्र कुमार, सचिव विश्वनाथ प्रसाद, कोषाध्यक्ष राजकिशोर प्रसाद आदि लोग भी श्रृंखला में खड़े होकर अपना समर्थन दे रहे थे। जिलाधिकारी नवीन कुमार, पुलिस अधीक्षक मनीष, उप विकास आयुक्त मुकुल कुमार गुप्ता तथा अन्य लोग भी इसमें शामिल थे।

जिला प्रशासन तथा जिले के तमाम लोगों की मेहनत और प्रयास एक बार फिर रंग लाई और सामाजिक परिर्वतन का आगाज हुआ। लगभग एक माह से जिला प्रशासन द्वारा मानव श्रृंखला निर्माण के लिए किए जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों के द्वारा आमजनों को मानव श्रृंखला में शामिल होने के लिए जागरूक किया जा रहा था। डीएम-एसपी के इस सकारात्मक प्रयास का मानव श्रृंखला पर असर भी देखा जा रहा था।

जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक,एसडीओ निवेदिता कुमारी,एएसपी पंकज कुमार सहित अन्य पदाधिकारियों ने पूरे जिले में लगभग एक माह से मानव श्रृंखला की तैयारी के लिए युद्ध स्तर पर प्रखंडों का भ्रमण कर विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया था। इसमें जिले के सभी प्रशासनिक एवं पुलिस पदाधिकारियों का भी उनलोगों को भरपूर सहयोग मिला था। जगह-जगह जन वितरण प्रणाली के डीलर, बैंकिग, शैक्षिक संस्थानों, जन प्रतिनिधियों इत्यादि द्वारा पेयजल, चाय, बच्चों एवं छात्र-छात्राओं के लिए टॉफी, गुब्बारा इत्यादि की व्यवस्था की गई थी। तोरण द्वार, रंगोली, बैनर-फ्लैक्सी, ढोल नगाड़े से मानव श्रृंखला में शामिल होने वाले लोगों का स्वागत किया गया। बच्चे अपने हाथों में नशा मुक्ति, दहेज एवं बाल विवाह विरोधी एवं जल-जीवन-हरियाली को समर्थन देने के लिए स्लोगन की पट्टी लिए उमंग एवं उत्साह के साथ इन सामाजिक कुरीतियों को समाप्त करने के लिए अपनी आवाज बुलंद कर रहे थे।

मानव श्रृंखला में शामिल होने वाले लोगों की सुरक्षा एवं उनके स्वास्थ्य के लिए जगह-जगह हेल्थ कैम्प लगाये गये थे। साथ हीं एम्बुलेंस की पर्याप्त व्यवस्था की गई थी। हेल्थ कैंप में चिकित्सक, एएनएम की प्रतिनियुक्ति दवा के साथ की गई थी। साथ हीं जगह-जगह पुलिस की पर्याप्त व्यवस्था की गई थी, ताकि आवश्यकता पड़ने पर त्वरित कार्रवाई की जा सके। इस प्रकार चुस्त -दुरूस्त व्यवस्था के कारण जिले में कही कोई अप्रिय घटना की सूचना प्राप्त नहीं हुई। सभी प्रखंडों के वरीय पदाधिकारी द्वारा विधि व्यवस्था एवं मानव श्रृंखला की सफलता के लिए कार्य किये गये थे। इधर रतनी फरीदपुर में भी बड़ी संख्या में लोग इस मानव श्रृंखला में शामिल हुए। सेक्टर मजिस्ट्रेट तथा जोनल मजिस्ट्रेट के साथ बीडीओ रामनाथ कुमार तथा ओएसडी संजीव कुमार जमुआर श्रृंखला बनाने में सहयोग कर रहे थे। बीडीओ ने बताया कि कुल 43 किलोमीटर में श्रृंखला का निर्माण किया गया था जिसमें तकरीबन 50 हजार लोग शामिल थे। इसके अलावा मखदुमपुर,घोसी, मोदनगंज, हुलासगंज तथा काको प्रखंड में भी बड़ी संख्या में लोग मानव श्रृंखला में शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *