बिहार: लॉकडाउन फेज-4 का 12वां दिन / राज्य में 3275 संक्रमित, 31 जून के बाद भी बंदिशें जारी रह सकती हैं, प्रवासियों को लाने की प्रक्रिया अंतिम चरण में

  • कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव के लिए सरकार ने 809 करोड़ रुपए जारी किए
  • 5.8 लाख प्रवासी क्वारैंटाइन अवधि पूरी करने के बाद अपने घर चले गए

पटना. 31 मई को लॉकडाउन फेज-4 समाप्त हो रहा है। लॉकडाउन आगे जारी रहेगा या नहीं, इस पर केंद्र सरकार काे फैसला लेना है। हालांकि, बिहार में 31 मई के बाद भी बंदिशें जारी रह सकती हैं। फेज-4 में बड़ी संख्या में देशभर से प्रवासी बिहार लौटे हैं। 2168 प्रवासियों में संक्रमण पाया गया है। राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3275 हो गई है। जबकि 16 मरीज की मौत हुई है। 1050 मरीज स्वस्थ हुए हैं। शुक्रवार को 90 नए मरीज मिले।

राजनीतिक, धार्मिक, सामाजिक बैठक पर रोक अभी जारी रहे
मुख्य सचिव दीपक कुमार ने राज्य के जिलाधिकारियों से चर्चा की। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान एक जून से और छूट देने पर मंथन हुआ। इसमें राजनीतिक, धार्मिक, सामाजिक बैठक और सम्मेलन पर रोक जारी रखने पर ज्यादातर जिलों के डीएम ने सहमति जताई। वहीं, शर्तों के साथ पब्लिक ट्रांसपोर्ट को खोलने समेत अन्य वाहनों के परिचालन पर शर्तों के साथ छूट देने पर सहमति बनी। सभी बातें तब लागू होंगी जब लॉकडाउन के संबंध में केंद्र सरकार की स्पष्ट गाइडलाइन आ जाए। रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग पहले की तरह जारी रहेगी।

ट्रेनों से प्रवासियों को लाने की प्रक्रिया अंतिम चरण में
विशेष ट्रेनों से बिहार आने वालों की संख्या में अब कमी आई है। अधिकतर प्रवासी जो बिहार आना चाहते थे, लौट आए हैं। पीआरडी सचिव अनुपम कुमार ने कहा कि विशेष ट्रेनों से प्रवासियों को लाने की प्रक्रिया अब अपने अंतिम चरण में है। शुक्रवार को 73 ट्रेनों से 1 लाख 3 हजार लोग आ रहे हैं। शनिवार को 46 ट्रेनों से 42 हजार 900 लोग बिहार आएंगे। क्वारैंटाइन सेंटर में गुरुवार तक 12 लाख 38 हजार प्रवासी आए हैं। इनमें से 5.8 लाख लोग क्वारैंटाइन अवधि पूरी करने के बाद अपने घर चले गए हैं। अभी 6.58 प्रवासी 13684 क्वारैंटाइन सेंटर में रह रहे हैं।

हॉस्पिटल आने पर पता चला कोरोना के शिकार हो चुके हैं
राज्य में कोरोना के ऐसे मरीज सामने आ रहे हैं जिन्हें पता ही नहीं था कि वे संक्रमित हो गए हैं। दूसरी बीमारी का इलाज कराने हॉस्पिटल पहुंचने पर जांच की गई तो वे कोरोना संक्रमित मिले। पटना के शास्त्रीनगर में रहने वाले 44 साल के मरीज हार्ट की सर्जरी कराने के लिए पीएमसीएच में भर्ती हुए थे। उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। विक्रम के मोहनचक का 7 साल का एक बच्चा कोरोना पॉजिटिव पाया गया। बच्चा आंत संबंधी बीमारी का इलाज कराने के लिए आईजीआईएमएस में भर्ती हुआ था।

पटना-हैदराबाद के बीच सीधी विमान सेवा शुरू
पटना और हैदराबाद के बीच शुक्रवार से सीधी विमान सेवा शुरू हो गई। इंडिगो का विमान सप्ताह में तीन दिन शुक्रवार, शनिवार और रविवार को सुबह 6:35 बजे लैंड करेगा और 7:15 बजे हैदराबाद के लिए टेकऑफ करेगा। वहीं, गुरुवार से दिल्ली के लिए विस्तारा की नई फ्लाइट शुरू हो गई। इस तरह पटना से दिल्ली के लिए 7 विमान हो गए। इनमें इंडिगो के तीन, स्पाइस के दो और एयर इंडिया और विस्तारा का एक-एक विमान है। एयरपोर्ट प्रशासन ने विमानों की शेड्यूल जारी किया है, जिसमें विमानों की तादाद 11 से बढ़कर 13 हो गई है। यह शेड्यूल 31 मई तक के लिए ही प्रभावी है।

कोरोनावायरस के खतरे के मद्देनजर बंद नियमित ट्रेनें अब स्पेशल ट्रेनों के रूप में फिर से चलने को तैयार हैं। 1 जून से देशभर में 200 ट्रेनों का परिचालन शुरू होना है। पूर्व मध्य रेल के विभिन्न स्टेशनों से 22 ट्रेनों का परिचालन होगा। दानापुर मंडल के स्टेशनों से कुल 17 ट्रेनें रुकते हुए गुजरेंगी। इनमें अधिकांश ट्रेनें यहीं से चलेंगी और समाप्त होंगी।

कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव के लिए 809 करोड़ जारी
कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव के लिए सरकार ने 809 करोड़ रुपए जारी किए हैं। यह रकम बिहार आकस्मिकता निधि से एडवांस में ली जाएगी। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई कैबिनेट की बैठक में आपदा प्रबंधन विभाग के इस प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई। इस रकम को कोरोना से बचाव और राहत के लिए चलाए जा रहे अभियान पर खर्च किया जाएगा। इसके अलावा कैबिनेट ने प्रखंड क्वारैंटाइन सेंटर और होम क्वारैंटाइन में रह रहे प्रवासी मजदूरों के लिए ‘प्रवासी मजदूर निष्क्रमण सहायता’ की रकम को पीएफएमएस के माध्यम से उनके बैंक खाते में भुगतान करने की स्वीकृति दी है। सरकार लॉकडाउन के दौरान लौटे प्रवासी श्रमिकों को योजना के तहत ट्रेन के किराए के साथ अतिरिक्त 500 रुपए (न्यूनतम 1000 रुपए) दे रही है।

भागलपुर: ईद से दो दिन पहले ही मुंबई से लौटे युवक की मौत
मुंबई से ईद से दो दिन पहले गांव पहुंचे 40 साल के व्यक्ति की मौत हो गई। यह व्यक्ति जगदीशपुर प्रखंड की सैनो पंचायत के बदलूचक गांव का थ। 23 मई को मुंबई से बोलेरो से 8 साथियों के साथ भागलपुर पहुंचा था। अकेले गांव पहुंचा और ईद मनाई। घर पहुंचने के बाद तबीयत खराब हो गई थी। घर वाले टेंपो से भागलपुर ले जा रहे थे, रास्ते में ही मौत हो गई। मुंबई से आने की बात सुनकर टेंपो चालक उसे वहीं छोड़कर भाग गया। हेल्थ विभाग की टीम ने कोरोना संदिग्ध मान शव का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा है।

ट्रेन में खगड़िया के युवक की मौत, 10 दिन से था बीमार
हरियाणा से खगड़िया आने के दौरान स्पेशल ट्रेन में एक 38 वर्षीय युवक की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई। युवक मोरकाही के सोनमनकी घाट वार्ड-4 निवासी बताया जा रहा है। ट्रेन में युवक पशुपति के साथ उसका ममेरा भाई संजय सदा भी था। संजय ने बताया कि पशुपति जनवरी में मजदूरी करने हरियाणा गया था। लॉकडाउन में काम बंद होने के बाद घर लौट रहा था। वह 10 दिन से बीमार था। 26 मई को ट्रेन में बैठा। बरौनी के पास बीहट हॉल्ट के पास उसने दम तोड़ दिया।

  • कुल संक्रमित 3275: पटना 231, रोहतास 203, मधुबनी 191, बेगूसराय 180, मुंगेर 149, खगड़िया 151, कटिहार 134, बक्सर 115, जहानाबाद 131, भागलपुर 112, बांका 107, नालंदा 105, गोपालगंज 109, पू. चंपारण 98, नवादा 83, सीवान 72, दरभंगा 69, सीतामढ़ी 68, शेखपुरा 84, गया 68, वैशाली, औरंगाबाद और भोजपुर में 65-65, समस्तीपुर में 71, सुपौल और पूर्णिया में 60-60, कैमूर 59, सहरसा 57, सारण 54, मधेपुरा 52, मुजफ्फरपुर 43, प. चंपारण 42, अरवल 41, लखीसराय 35, किशनगंज 32, जमुई 33, अररिया 29 और शिवहर में 7 मरीज मिले।
  • अब तक 16 की मौत:  पटना, खगड़िया और वैशाली में 2-2 और भोजपुर, रोहतास, बेगूसराय, मुंगेर, जहानाबाद, पू. चंपारण, सीवान, सारण, सीतामढ़ी व नालंदा में एक-एक मरीज की मौत हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *