कार्य प्रमंडलों में कुशल प्रवासियों को प्राथमिकता

जहानाबाद : दूसरे प्रदेश से भारी संख्या में आए कुशल कामगारों की जरूरत स्थानीय कार्य प्रमंडलों के माध्यम से चलने वाली योजनाओं में पड़ेगी। भवन निर्माण, ग्रामीण कार्य विभाग, पथ निर्माण, पंचायती राज विभाग सहित अन्य विभागों में जो ठेकेदार बाहर से कामगार लगाते थे वे अब स्थानीय प्रवासी को नियोजित करेंगे।

जहानाबाद जिला प्रशासन द्वारा क्वारंटाइन सेंटर में सर्वेक्षण के बाद विभिन्न श्रेणी में कामगारों को बांटा है। निर्माण मजदूर, कारपेंटर, वेल्डर, होजियरी सहित अन्य श्रेणी के लोग हैं। भवन निर्माण विभाग की योजनाओं में सभी तरह के कामगार की जरूरत है। निर्माण मजदूर, राज मिस्त्री, बढ़इगीरी, पेंटर, ग्रिल निर्माण सहित अन्य श्रेणी के कुशल कामगार को कार्यपालक अभियंता ठेकेदार के माध्यम से नियोजित कराएंगे।

पंचायतों में अकुशल कामगार मनरेगा में नियोजित होंगे। नल-जल योजना में पलंबर का नियोजन हो सकेगा। इसी तरह पंचायत सरकार भवन के निर्माण में भी सभी श्रेणी के कुशल कामगार नियोजित हो सकते हैं। जिला प्रशासन ने सभी कार्य प्रमंडल को नियोजन के लिए निर्देश दिया गया है।

जहानाबाद जिले में उद्योग की संभावनाएं तलाश की जा रही है जिसमें कृषि आधारित राइस मिल, फ्लावर मिल, हैचरी, मुर्गी और अंडा उद्योग के लिए कुछ क्षेत्र का चयन किया गया है। दीर्घकालीन नियोजन के लिए प्रशासन ने सभी प्रकार के लाइसेंस देने के लिए हेल्प डेस्क बना रहा है। उद्योग और कारोबार के लिए भाग-दौड़ से लोग बच सकेंगे।

जिले में जो भी योजनाएं चल रही थी उसके बाहरी कामगार चले गए हैं। अब स्थानीय कुशल प्रवासी उनकी जगह ले सकेंगे। सभी कार्य प्रमंडल को प्राथमिकता से कार्य देने का निर्देश दिया गया है। जिलाधिकारी के स्तर पर उद्योग लगाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। कई लोग राइस मिल, फ्लावर मिल, हैचरी और मुर्गी पालन के क्षेत्र में रुचि दिखाई है। प्रशासन की ओर से हेल्प डेस्क बनाया गया है जहां नियोक्ता और कुशल कामगारों की सूची रहेगी। दोनों के बीच प्रशासन माध्यम बनेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *