बिहार: आज से पूरी रफ्तार; किसी भी वाहन के लिए अब कोई पास जरूरी नहीं, सभी दुकानें सातों दिन रात 9 बजे तक खुलेंगी

लॉकडाउन को तीन चरणों में पूरी तरह अनलॉक करने का केंद्रीय गृह मंत्रालय का आदेश बिहार में भी उसी रूप में लागू हो रहा है। कंटेनमेंट जोन को छोड़कर पूरे राज्य में सैलून के साथ ही गैर जरूरी सामान की सभी दुकानें खुली हैं। अब दुकानें सातों दिन रात 9 बजे तक खुल सकेंगी। सभी सरकारी, प्राइवेट दफ्तरों और औद्योगिक इकाइयों में पूरी क्षमता के साथ काम शुरू किया जा रहा है। राज्य के अंदर या दूसरे राज्यों की आवाजाही पर लगी रोक हट गई है। लोग बिना पास के आ-जा रहे हैं। आठ जून से धर्मस्थल, होटल, रेस्तरां और शॉपिंग मॉल खुलेंगे। लेकिन, स्कूल-कॉलेज खोलने की तारीख जुलाई में तय होगी। आज से रात नौ बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू रहेगा और इस दौरान सिर्फ जरूरी कार्यों के लिए छूट मिलेगी। होटल, रेस्टोरेंट से खाना पैकिंग कराकर काउंटर से ले सकेंगे। लेकिन, बैठकर खाने की अनुमति 8 जून से होगी।

आज से निजी या सार्वजनिक किसी भी वाहन के लिए पास की जरूरत नहीं है। सिटी बसें, अंतर जिला बसें और अंतरराज्यीय बसें भी शुरू हो गई हैं। एक सीट पर एक यात्री ही बैठ सकेंगे। किराया लॉकडाउन से पहले जैसा ही रहेगा। ई रिक्शा, ऑटो रिक्शा, कैब, टैक्सी ओला, उबर भी चलने लगे हैं। इनमें भी एक सीट पर एक यात्री ही बैठ सकेंगे। ज्यादा किराया नहीं वसूला जाए, इसकी जिम्मेवारी राज्य सरकार ने जिला प्रशासन को सौंपी है। श्रमिल स्पेशल ट्रेनों के अतिरिक्त सोमवार से देशभर में 200 यात्री ट्रेनें चलेंगी। इनमें बिहार की 22 ट्रेनें शामिल हैं। 9 अन्य ऐसी ट्रेनें हैं जिनका बिहार में स्टॉपेज हैं। इनमें पटना से मुंबई-दिल्ली-रांची की ट्रेनें भी शामिल हैं। आज से गो एयर की तीन फ्लाइट एक साथ शुरू हो रही हैं। उनमें एक दिल्ली के लिए, एक मुंबई के लिए और एक बेंगलुरु के लिए होगी। आज से इंडिगो की कोलकाता की एक नई उड़ान शुरू होगी। इसके साथ ही पटना से 16 फ्लाइट शुरू हो जाएगी।

बिहार में 3872 संक्रमित
राज्य में अभी तक कुल 3872 संक्रमित मिले हैं। सोमवार को 65 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। संक्रमितों में करीब 70 प्रतिशत प्रवासी श्रमिक शामिल हैं। वहीं, पिछले 24 घंटे में 206 लोगों ने कोरोना वायरस को मात दी और स्वस्थ्य होकर घर लौटे। इस तरह अभी तक स्वास्थ्य होने वाले लोगों की संख्या भी बढ़कर 1520 हो गई है। कोरोना के 23 मरीज की मौत हुई है।

दिल्ली से विमान से आया था पटना सिटी का संक्रमित युवक
पटना सिटी के मरची गांव का जो युवक पॉजिटिव मिला है, वह 27 मई को दिल्ली से एयर इंडिया के विमान से आया था। उस विमान में करीब 120 यात्रियों के साथ ही पायलट, को-पायलट और एयर होस्टेस थे। पटना एयरपोर्ट पर थर्मल स्क्रीनिंग में वह संदिग्ध नहीं पाया गया। वह ऑटो से घर चला गया। सर्दी-खांसी होने पर 30 मई को वह खुद जांच कराने के लिए एनएमसीएच पहुंच गया। रविवार की शाम रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। सिविल सर्जन डॉ. आरके चौधरी ने बताया कि उसके साथ आए विमान यात्रियों का पता लगाया जाएगा। उन्हें सेल्फ क्वारेंटाइन को कहा जाएगा। पायलट, को-पायलट और एयर होस्टेस की भी जानकारी ली जाएगी। लॉकडाउन 4.0 के आखिरी दिन रविवार को पटना जिले में 9 कोरोना मरीज मिले। पटना जिले में रविवार तक कुल कोरोना मरीजों की तादाद 241 हो गई।

15 जून के बाद प्रखंडों में चलाए जा रहे सभी क्वारैंटाइन सेंटर किए जाएंगे बंद
राज्य में 15 जून के बाद ब्लॉक क्वारैंटाइन सेंटर बंद हो जाएंगे। लॉकडाउन की वजह से दूसरे प्रदेशों में फंसे हुए प्रवासियों को वापस लाने की मुहिम लगभग पूरी हो चुकी है। एक-दो दिनों के भीतर आने वाले लोगों की क्वारैंटाइन अवधि भी 15 जून को पूरी हो जाएगी। इसी वजह से यह फैसला लिया है। अब तक 1433 ट्रेनों से 19 लाख 47 हजार 127 प्रवासी बिहार लौट चुके हैं। बहुत कम संख्या में लोग बचे हुए हैं, वे भी एक से दो दिन में आ जाएंगे। अभी 12291 ब्लॉक क्वारैंटाइन सेंटर में 5 लाख 73 हजार 793 लोग रह रहे हैं, जबकि क्वारैंटाइन अवधि पूरी करके 7 लाख 94 हजार लोग घर जा चुके हैं।

आज के बाद प्रखंडों में प्रवासियों का पंजीकरण नहीं
प्रदेश के प्रखंडों में पहली जून के बाद प्रवासियों का अब पंजीकरण नहीं होगा। आपदा प्रबंधन विभाग ने सभी डीएम से कहा है कि 1 जून से आम रेलगाड़ियों का चलना शुरू ह‌ो जाएगा, ऐसे में श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आ रहे प्रवासियों के अलावा किसी अन्य साधन से आने वाले लोगों को पंजीकरण नहीं करें। सिर्फ श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आने वालों की ही पंजीकरण होगा। पहली जून तक ही श्रमिक ट्रेन चलाने की व्यवस्था है, इसलिये किसी भी हालत में प्रखंड क्वारैंटाइन कैंप 15 जून के बाद नहीं चलेंगे। राज्य में चल रहे सभी आपदा राहत केन्द्र और सीमा आपदा राहत केंद्र 3 जून से बंद हो जाएंगे।

  • बिहार में 3872 संक्रमित: बेगूसराय 246, पटना 243, रोहतास 207, मधुबनी 192, भागलपुर 180, मुंगेर 157, जहानाबाद 158, खगड़िया 157, कटिहार 141, बक्सर 118, बांका 117, नालंदा 111, गोपालगंज 109, पू. चंपारण 102, शेखपुरा 99, दरभंगा 107, नवादा 91, सीवान 93, पूर्णिया 85, भोजपुर 83, कैमूर और मधेपुरा में 80-80, सारण 76, गया 78, औरंगाबाद 74, सुपौल 73, किशनगंज 75, समस्तीपुर 70, वैशाली 68, मुजफ्फरपुर 66, सहरसा 65, सीतामढ़ी 54, प. चंपारण और अरवल में 45-45, अररिया 46, जमुई 41, लखीसराय 37 और शिवहर में 9 मरीज मिले।
  • 23 मरीज की मौत: खगड़िया 3, बेगूसराय, भोजपुर, पटना, सीवान व वैशाली में 2-2 और भागलपुर, जहानाबाद, मधेपुरा, मुंगेर, नालंदा, पू. चंपारण, रोहतास, समस्तीपुर, सारण तथा सीतामढ़ी में एक-एक मरीज की मौत।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *