बिहार में मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने लिया तैयारियों का जायजा, आयोग ने कहा- बूथों का भौतिक सत्यापन करें

कोरोना संक्रमण के बीच राज्य में विधानसभा चुनाव की आहट भी शुरू हो गई है। निर्वाचन आयोग ने अक्टूबर-नवंबर में प्रस्तावित बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारियां अपने स्तर से शुरू कर दी हैं। मंगलवार को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एचआर श्रीनिवास ने सभी जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चुनाव की आरंभिक तैयारियों की समीक्षा की और कई दिशा-निर्देश दिए।
चुनाव के लिए मतदाता सूची पुनरीक्षण का काम जल्द ही शुरू किया जाएगा और इसके लिए नई तारीखों की घोषणा की जाएगी। बैठक के दौरान मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने सभी जिलों को कर्मचारियों का डाटाबेस और प्रशिक्षण के लिए शेड्यूल तैयार करने का निर्देश का दिया। गौरतलब है कि कोरोना के कारण चुनाव टलने की आशंका भी जताई जा रही थी। लेकिन चुनाव आयोग की कवायद को देखकर अब तय है कि राज्य विधानसभा चुनाव समय पर ही होंगे। हालांकि यह भी तय माना जा रहा कि चुनाव और प्रचार के ताैर-तरीकों में काफी बदलाव देखने को मिलेगा।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने सभी डीएम-एसपी को दिए आदेश

जिला स्तरीय प्लान 
सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को मतदान केंद्रों का भौतिक सत्यापन, बजट का आकलन, निर्वाचन व्यय और निर्वाचन सामग्रियों की उपलब्धता की जानकारी आयोग को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है। आयोग ने मतदान केंद्रों पर न्यूनतम सुविधाएं का आकलन करने और जिला स्तरीय प्लान तैयार करने का निर्देश दिया है।

हेल्पलाइन नंबर 1950  
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने हेल्पलाइन नंबर 1950 को जिला स्तर पर कार्यरत करने और सभी जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को अपनी वेबसाइट को अप टू डेट करने का आदेश दिया गया है। जिला निर्वाची पदाधिकारी और सहायक निर्वाची पदाधिकारी के खाली पदों को चिह्नित करने का भी निर्देश दिया गया है।

आपत्ति का निष्पादन   
निर्वाचन आयोग ने विधान परिषद के शिक्षक और स्नातक निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक सूचियों के अंतिम प्रकाशन के बाद आए दावे और आपत्ति का भी जल्द से जल्द निष्पादन करने और मतदान की तैयारी के क्रम में कर्मियों और मतपेटियों का डाटाबेस तैयार करने का भी आदेश दिया गया है।

अब 7 जून को शाम चार बजे अमित शाह की वर्चुअल रैली

केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह की वर्चुअल रैली अब 9 जून की जगह 7 जून को ही होगी। यह जानकारी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. संजय जायसवाल ने दी। उन्होंने बताया कि तकनीकी कारणों से तिथि में बदलाव किया गया है। शाह डिजिटल माध्यमों से पूरे प्रदेश के लोगों को एकसाथ संबोधित करेंगे। यह अपने तरीके की पहली रैली होगी। पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए पूरे प्रदेश में कई वर्चुअल रैलियों का आयोजन करेगी। शाह की रैली इसकी शुरुआत है।

हम भी 7 को ही सुबह 11 बजे थाली-कटोरा बजाएंगे:तेजस्वी

राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि पार्टी के दबाव में भाजपा ने प्रस्तावित 9 जून की वर्चुअल रैली को अब 7 जून को करने का निर्णय किया है। लोग कोरोना और भूख से मर रहे है लेकिन भाजपा रैली कर रही है। प्रतिकार में राजद भी अब 7 जून, रविवार को ही “ग़रीब अधिकार दिवस” मनायेगी। राजद के सभी कार्यकर्ता, समर्थक और बिहारवासी 7 जून को अपने-अपने घरों के बाहर सुबह 11 बजे थाली-कटोरा बजाएंगे। तेजस्वी ने कहा कि हम गरीब, मजदूर, के लिए लड़ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *