आम सेहत के लिए रामबाण होता है

आम की मिठास और उसकी खुशबू ही फलों की श्रेष्ठता को दर्शाता है और यही वजह है कि आम फलों का राजा कहलाता है। फलों का राजा कहलाने वाले आम देश ही नहीं बल्कि पाकिस्तान व फिलीपींस का भी राष्ट्रीय फल है। जबकि बांग्लादेश में आम के पेड़ राष्ट्रीय पेड़ कहलाता हैं।

कृषि विज्ञान केंद्र अगवानपुर के वैज्ञानिक डॉ. सुनीता पासवान के अनुसार आम को स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद बताया गया है क्योंकि इसमें कुछ बायोएक्टिव यौगिक होते हैं जो सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। अयोवा डिपार्टमेंट ऑफ पब्लिक हेल्थ द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट में कहा गया है कि आम में बीटा- कैरोटीन की मात्रा अधिक होती है जो शरीर को कई बीमारियों से बचाने में कारगर है। आम जब कच्चा रहता है तो उसमें विटामिन-सी की मात्रा ज्यादा होती है। वहीं जब यह पक जाता है तो इसमें विटामिन-ए की मात्रा अधिक हो जाती है।

आम का सेवन करने से घातक बीमारियों का खतरा होता है कम : 

वैज्ञानिक के अनुसार, आम कैंसर जैसी घातक बीमारी का खतरा कम कर सकता है। आम के फल के गूदे में कैरोटिनॉइड, एस्कॉर्बिक एसिड, टरपेनोइड्स और पॉलीफेनॉल्स होते हैं। 2010 में किए गए एक वैज्ञानिक अध्ययन ने भी आम के एंटी- कार्सिनोजेनिक प्रभावों का समर्थन किया है। आम में मौजूद एंटीकैंसर गुण को मैंगिफरिन का नाम दिया गया है जो फलों में पाया जानेवाला यौगिक है। मैंगिफरिन पेट और लीवर में कैंसर कोशिकाओं और अन्य ट्यूमर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है। 2015 में किए गए एक अन्य अध्ययन में पाया गया कि आम के पॉलीफेनॉल्स स्तन कैंसर को दबा देते हैं। टेक्सास ए एंड एम यूनिवर्सिटी द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार , आम में मौजूद पॉलीफेनॉलिक यौगिकों में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करने में मदद करते हैं। चीनी अध्ययन के अनुसार, आम में मौजूद पॉलीफेनोल एंटी कैंसर गतिविधि को प्रदर्शित करते हैं जो त्वचा के कैंसर को रोक सकते हैं।

आम का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल में आती हैं कमी : 

कोलेस्ट्रॉल के खतरे से बचने के लिए आम का सेवन करना लाभप्रद है। आम में प्रचुर मात्रा में न्यूट्रॉसिटिकल मौजूद होता है जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है। आम के सेवन से एचडीएल यानी अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाने में भी मदद मिलती है।

रोग प्रतिरोधक शक्ति के लिए होता है लाभप्रद :

आम को अपने डाइट में शामिल कर आप अपनी रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ा सकते हैं। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में विटामिन-सी काफी मदद करता है और आम विटामिन-सी से भरपूर है। भारत के राजस्थान में किए गए एक अध्ययन के अनुसार, विटामिन-सी एलर्जी की समस्या को कम करता है और संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकता है।

आंखों की बढ़ाता है रोशनी :

विटामिन-ए की कमी का असर आंखों की रोशनी पर पड़ता है। ऐसे में आम का सेवन आंखों को स्वस्थ रख सकता है। क्योंकि इसमें विटामिन-ए मौजूद होता है। इसके अलावा , मानव आंख के दो प्रमुख कैरोटेनॉइड हैं। ल्यूटिन और जियाजैंथिन। आम को जियाजैंथिन का समृद्ध स्त्रोत माना गया है और यह आंखों को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है। यह उम्र के साथ आंखों की रोशनी को कमजोर होने से बचा सकता है।

ब्लड प्रेशर व दमा के लिए होता हैं फायदेमंद

उच्च रक्तचाप एवं अस्थमा या दमा के मरीज के लिए आम का सेवन फायदेमंद हैं। आम में एंटी-अस्थमेटिक गुण मौजूद होते हैं जिसके कारण दमा के मरीजों के लिए यह फायदेमंद हो सकता है।

फलों का राजा आम का सेवन करना कई मायनों में लाभप्रद सिद्ध हुआ है। सेहत के लिए रामबाण होने के साथ – साथ कैंसर, कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्तचाप जैसे घातक बीमारियों का खतरा को कम करती हैं।

डॉ. सुनीता पासवान, वैज्ञानिक, कृषि विज्ञान केंद्र, अगवानपुर, सहरसा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *