रिकवरी रेट में बिहार छठे नंबर पर पहुंचा, आधे से ज्यादा मरीज स्वस्थ हो चुके; मृत्यु दर सबसे कम

बिहार में पिछले दस दिनों में जहां कोरोना के नए मामले तेजी से बढ़े हैं वहीं, ठीक होने वाले मरीजों की तादाद भी बढ़ी है। पिछले 10 दिनों में कोरोना के 1890 नए केस मिले और 1459 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे। औसतन बिहार में पिछले दस दिनों में हर दिन डेढ़ सौ मरीज ठीक हो रहे हैं।

कोरोना प्रभावित टॉप-10 राज्यों के रिकवरी रेट में बिहार अब छठे स्थान पर पहुंच गया है। बिहार का रिकवरी रेट 50.77 है। आधे से अधिक मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। अब तक कुल 2770 मरीज ठीक हुए हैं और 2652 केस एक्टिव है। तीन मई से पहले बिहार का रिकवरी रेट 54 फीसदी तक पहुंच गया था। जब प्रवासी मजदूरों का आने का सिलसिला शुरू हुआ तब रिकवरी रेट लगातार गिरता चला गया और करीब बीस दिन पहले यह 26 फीसदी तक पहुंच गया था। रिकवरी के मामले में राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु बिहार से ऊपर हैं।

मृत्यु दर सबसे कम
कोरोना को लेकर बिहार के लिए अच्छी बात ये है कि यहां मृत्यु दर सबसे कम है। कोरोना प्रभावित टॉप दस राज्यों में बिहार दसवें नंबर पर है। बिहार में कोरोना से अब तक 33 मरीजों ने दम तोड़ा है और राज्य का मृत्यु दर 0.59% है। कोरोना से अब तक सबसे ज्यादा मौत महाराष्ट्र में हुई है और मृत्यु दर सबसे अधिक मध्य प्रदेश में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *