इस साल बाणावर में सावन के महीने में चलने वाले प्रसिद्ध श्रावणी मेला का नहीं किया जाएगा आयोजन

मखदुमपुर प्रखंड स्थित बराबर पहाड़ी पर स्थित प्रसिद्ध सिद्धेश्वर नाथ मंदिर इलाके में हर साल लगने वाले श्रवणी मेला के आयोजन नहीं कराने को ले  मंदिर जीर्णोद्धार समिति के महंत एवं मंदिर के पुजारियों के साथ शनिवार को पताल गंगा स्थित अतिथिगृह में बैठक हुई। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए समिति इस साल श्रावणी मेला, 2020 का आयोजन नहीं करेगा।

गौरतलब हो कि हर साल यहां पूरे प्रदेश से सावन महीने में लाखों लोग जलाभिषेक के लिए बाबा सिद्धेश्वर नाथ के दरबार में आते थे। इसमें हजारों की संख्या में कांवरिया भी आते थे। लेकिन ताजा निर्णय के अनुसार अब मंदिर परिसर में सावन महीने में भी पूजा-पाठ पूरी तरह से बंद रहेगा। साथ ही इसके अतिरिक्त सावन महीने में मंदिर प्रांगण के नीचे स्थित सभी दुकाने, सतघरवा गुफा एवं पताल गंगा स्थित सभी दुकानें पूरी तरह से बंद रहेंगी।

मंदिर जीर्णोद्धार समिति के सभी सदस्यों, महंत प्रतिनिधि एवं सभी पुजारियों द्वारा मंदिर को बंद करने के लिए जिला प्रशासन से मंदिर परिसर व मेला क्षेत्र में पर्याप्त संख्या में पुलिस बल प्रतिनियुक्ति करने का अनुरोध किया है ताकि मेला को स्थगित करने में मंदिर प्रशासन को किसी प्रकार की उस दौरान समस्या न उत्पन्न हो सके। उन्होंने जिलावासियों सहित अन्य श्रृद्धालुओं से अपील किया कि कोरोना वायरस वैश्विक महामारी को देखते हुए कृपा कर सावन महीने में वहां नहीं जाएं।

यह भी अनुरोध किया गया है कि लोग अपने आस-पास एवं परिवार जनो को भी मंदिर में न जाने के लिए जागरूक करें। बैठक में मंदिर जीर्णोद्धार समिति के कोषाध्यक्ष मनोज कुमार चंद्रवंशी, महंत के प्रतिनिधि भानु प्रताप सिंह उर्फ गुड्डू सिंह, मंदिर के पुजारी मुन्ना पांडेय, जनार्धन पांडेय, दिलिप पांडेय, पवन कुमार पंाडेय, शिवनाथ पांडेय, सुजित कुमार पांडेय सहित अन्य पुजारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *