पटना में हल्की बारिश में ही मंत्रियों के आवास में घुसा पानी, ओवरफ्लो नालों ने निगम के दावों को डुबोया

रविवार की तेज बारिश ने आम के साथ-साथ खास लोगों को भी खासा परेशान किया। मंत्रियों के आवास में भी पानी घुसा। हालांकि, अधिकांश घरों से दो से तीन घंटे पानी निकालने में लग गए। इको पार्क रोड के मंत्री व अन्य वीवीआईपी के आवास के मुकाबले ऊंचा होने के कारण यहां जलजमाव हुआ। पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव के आवास पर शाम तक एक फीट से अधिक पानी जमी देखी गई। बारिश के कारण उनकी पार्किंग में खड़ी गाड़ियों के टायर डूब गए। आवास पर मौजूद गार्ड ने बताया कि यहां दो फीट से अधिक पानी जमा हो गया था।

अब पानी निकालने के लिए वहां पंप लगाया गया है। उन्होंने कहा कि इको पार्क रोड के समानांतर बने नाला की उड़ाही नहीं होने के कारण पानी की निकासी में दिक्कत आ रही है। मंत्री विजेंद्र नारायण यादव और कृषि मंत्री प्रेम कुमार के कैंपस में भी पानी जमा हुआ था। गार्डों में बताया कि करीब दो से तीन घंटे में यह पानी निकल गया। वहीं, नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा के आवास के भीतरी भाग में तो जलजमाव नहीं हुआ, लेकिन गेट पर पानी जम गया।

150 एमएम तक बारिश के पानी को निकालने में लगेंगे 22 घंटे
पटना नगर निगम ने रविवार को हुई करीब 60 मिलीमीटर बारिश को पांच से छह घंटे में निकालने का दावा किया है। मॉनसून की पहली बारिश में करीब 93 मिलीमीटर बारिश के पानी को सात से आठ घंटे में निकालने में कामयाबी मिली। पटना नगर निगम के नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा ने कहा कि एएन कॉलेज में नाला को चौड़ा करने का सुझाव आया है। इस पर सोमवार को काम शुरू कराया जाएगा। नगर आयुक्त ने कहा कि एक दिन में 150 मिलीमीटर के आसपास बारिश होने का ट्रेंड रहा है। इससे अधिक बारिश पटना में नहीं होती है। अगर इतनी भी बारिश एक दिन में हो जाती है तो इसके पानी को हम 15 से 22 घंटे के भीतर निकाल देंगे।

बुडको व निगम अधिकारी 24 घंटे रहेंगे ऑन ड्यूटी

पटना में बारिश से होने वाले जलजमाव को 24 घंटे के अंदर खत्म करने के लिये नगर विकास सचिव ने रविवार को मैराथन बैठक की। बैठक में उन्होंने बुडको और पटना नगर निगम के आला अधिकारियों से इस संबंध में उनके द्वारा अपनायी जा रही रणनीति पर लंबी चर्चा की। जलजाव को नियंत्रित करने के लिए बुडको और निगम के अधिकारी 24 घंटे काम करेंगे। सभी संप हाउस ठीक तरीके से काम करें और बड़े नालों में कहीं अवरोध नहीं आये, इसकी लगातार मॉनिटरिंग करनी है।

कंकड़बाग, रेंटल फ्लैट व चांदमारी रोड में जलजमाव

रविवार सुबह हुई तेज बारिश ने लोगों की परेशानी को बढ़ा दिया है। राजेंद्र नगर में मैकडोवेल गोलंबर और रोड नंबर एक व दो के अलावा कदमकुआं, कांग्रेस मैदान, लोहानीपुर जैसे इलाकों में जलजमाव जैसी स्थिति बनी। कंकड़बाग के रेंटल फ्लैट इलाकों में लोगों के घरों में पानी पहुंच गया। इसके अलावा एलआईजी, एमआईजी, अशोक नगर, लोहिया नगर आदि इलाकों में भी जलजमाव देखने को मिला। चांदमारी रोड व कांटी फैक्ट्री रोड, पोस्टल पार्क, रामनगरी रोड, न्यू बाइपास रोड के दक्षिणी इलाकों, ज्ञान गंगा से लेकर मीठापुर कृषि फॉर्म तक के मुहल्लों में बारिश के पानी ने गलियों को अपनी चपेट में ले लिया।

कांग्रेस मैदान मंदिर के पास भारी जलजमाव

कांग्रेस मैदान मंदिर के पास जलजमाव के कारण एक बुजुर्ग नाला में गिर गए। उनके नाला में गिरते देख मंदिर के पास चाय बेचने वाले ने हल्ला किया। उसने अन्य लोगों की मदद से उन्हें बाहर निकाला। नाला में गिरने से बुजुर्ग को चलने में परेशानी हो रही थी। लोगों ने उन्हें खटिया पर लादकर (तस्वीर बाएं) जलजमाव से बाहर निकाला। बुजुर्ग सड़क के किनारे चल रहे थे। लेकिन, करीब दो फीट से अधिक जलजमाव की वजह से उन्हें सड़क व बगल के नाले का पता ही नहीं चला।

जलजमाव से परेशानी डीएम करेंगे समीक्षा

जिला प्रशासन की लगातार मॉनिटरिंग करने के बावजूद जल जमाव से निजात नहीं मिल रही है। इसको लेकर डीएम कुमार रवि ने सोमवार को समीक्षा बैठक बुलाई है। इस बैठक में नगर आयुक्त, बुडको को एमडी, नाला की जांच करने वाले जिला प्रशासन के वरीय पदाधिकारी, जांच टीम में शामिल अन्य पदाधिकारी के साथ नगर निगम और बुडको के पदाधिकारी और कर्मी शामिल रहेंगे। बैठक के दौरान जिले के वरीय पदाधिकारियों द्वारा की जाने वाली जांच रिपोर्ट पर समीक्षा होगी और जवाबदेही तय की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *