पंजाब नेशनल बैंक डकैती मामला में 33 लाख बरामद, पांच अपराधी गिरफ्तार, सीढ़ी के नीचे छिपाकर रखे थे रुपए

22 जून को पटना के अनीसाबाद मोड़ स्थित पंजाब नेशनल बैंक में हुई डकैती के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस ने 33.13 लाख रुपए बरामद कर लिए हैं। इसके साथ मुख्य सरगना समेत पांच अपराधियों को गिरफ्तार किया है। आधा दर्जन हथियारबंद अपराधियों ने दिन-दहाड़े बैंक में डकैती की घटना को अंजाम दिया था। 52.38 लाख रुपए की डकैती हुई थी। मामले की जांच एसएसपी के नेतृत्व में की गई। शुक्रवार को पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेस कर यह सूचना दी।

सादे लिबास में अपराधी के घर के आस-पास तैनात थी पुलिस
अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए नगर पुलिस अधीक्षक पश्चिमी, पटना के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया गया था। पुलिस बैंक लुटेरों और डकैतों के गिरोहों के संबंध में सूचना जुटा रही थी। इसी दौरान एसएसपी को खबर मिली कि बैंक कॉलोनी, जक्कनपुर में रहने वाले अमन कुमार उर्फ सत्यम शुक्ला उर्फ अमित की इस घटना में संलिप्तता है। इसके बाद सादे लिबास में पुलिस 24 घंटे इलाके में निगरानी रखने लगी।

करीब 144 घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद पता चला कि अन्य अपराधी अमन शुक्ला से मिलने आने वाले हैं। तत्काल अमन के घर की घेराबंदी बढ़ा दी गई। जैसे ही संदेहास्पद लोगों का अमन शुक्ला के कमरे में जुटान हुआ पुलिस टीम ने छापेमारी कर सभी को पकड़ लिया।

सिमेंट से किए गए ढलैया को तोड़कर निकाला पैसा
गिरफ्तार अपराधियों के नाम अमन कुमार, प्रफुल्ल कुमार, गणेश कुमार, सोनेलाल और हरिनारायण हैं। तलाशी के क्रम में अपराधियों के पास से पांच देशी पिस्टल, 16 जिंदा कारतूस, 22 लाख 64 हजार रुपए, सोने की एक चेन और कई आपत्तिजनक सामान बरामद हुए।

गिरफ्तार अपराधियों की निशानदेही पर सोनेलाल के मकान में सीढ़ी के नीचे कंक्रीट में सिमेंट से किए गए ढलैया को तोड़कर 6 लाख रुपए और सोने से मढ़ा रूद्राक्ष की एक माला बरामद किया गया। हरिनारायण के मकान से 3 लाख रुपए और सोने की एक माला व लॉकेट मिला।

अपराधियों के इस गिरोह का सरगना अमन शुक्ला है। यह गिरोह लंबे समय से लूट और डकैती की वारदातों को अंजाम दे रहा था। हरिनारायण कराटे का ब्लैक बेल्ट टीचर है। अमन शुक्ला शिक्षक है। मोटी रकम पास में होने के बाद भी ये दूसरों से कर्ज मांगने का नाटक करते थे और साधारण जीवन बिता रहे थे ताकि किसी को शक न हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *