जहानाबाद सदर प्रखंड के चार व मखदुमपुर में एक कोरोना पॉजिटिव मिला, 397 की जांच रिपोर्ट का इंतजार

जिले में कोरोना से लड़ाई चरम पर पहुंचता दिख रहा है। एक ओर प्रतिदिन नए संक्रमित सामने आ रहे हैं तो दूसरी ओर कोरोना को पराजित करने वाले भी रोज सामने आ रहे हैं। रविवार को जहां जिले में पांच नए पॉजिटिव केस सामने आए वहीं तेरह लोग कोरोना को हराकर अस्पताल से अपने घरों को लौट गए। रविवार को संक्रमित हुए लोगों में शहर के होरिलगंज के दो किशोर के अलावा मखदुमपुर के कायमगंज निवासी एक चौबीस वर्षीय युवक, सदर प्रखंड के चक लरसा का पैंतीस वर्षीय युवक व सेवनन का एक पचपन वर्षीय अधेड़ महिला शामिल है।

शहर के होरिलगंज में संक्रमित हुए दोनों बच्चे लोकल चेन से जुड़े हैं क्योंकि यहां दो दिन पूर्व ही एक संक्रमित मिला है। इसके अलावा सेवनन की महिला अपने एक संबंधी के यहां शादी में गई थी, जहां उसे कोरोना का संक्रमण लगा है। इधर कायमगंज निवासी युवक को भी कहीं यात्रा के क्रम में ही संक्रमण लगा है। सभी संक्रमित मिले नए पॉजिटिव लोगों को आइसोलेशन वार्ड में भेज दिया गया है।
संबंधित इलाकों को बनाया जाएगा कंटेन्मेंट जोन, सुरक्षा घेरे पड़ेंगे
सदर प्रखंड में मिले चार नए पॉजिटव मरीजों के संबंधित इलाकों को कंटेन्मेंट जोन बनाते हुए इलाके को सुरक्षा घेरे में लेने के लिए बैरिकेडिंग की जाएगी। सदर प्रखंड के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा.अजय कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि संक्रमित हुए लोगों के इलाके को सुरक्षा मानकों के अनुसार सील कर वहां सेनेटाइज भी कराया जाएगा। सदर अस्पताल स्थिति नशा मुक्ति केन्द्र को भी रविवार काे सेनेटाइज किया गया।

अब भी 363 लोगों की रिपोर्ट का किया जा रहा है इंतजार
जिले में पांच नए संक्रमित मरीज मिले तो पहले से कोरोना के चंगुल में फंसे लोगों ने कोरोना को मात देकर अस्पताल से छुट्टी पा ली। इस तरह से कोरोना से जिलेवासियों की जंग जारी है। अब तक जिले में कुल 4334 लोगों के सैंपल जांच किए गए हैं जिसमे से अब तक रविवार के पांच नए मामलों को मिलाकर पॉजिटिवों की संख्या 281 तक जा पहुंची है। रविवार को तेरह लोगों के ठीक होने के बाद कोरोना को हराने वालों की संख्या भी तेजी के साथ 255 तक पहुंच गई है। हालांकि अब भी 397 लोगों की जांच रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।

दस पाॅजिटिव मरीज मिलने के बाद बड़हेटा गांव को किया गया सील 
रतनी| प्रखंड क्षेत्र के बड़हेता गांव में शनिवार को दस कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद गांव को सील कर वहां बाहरी लोगों के आने जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। अंचलाधिकारी इन्द्रदेव पंडित ने रविवार को गांव में आने जाने वाले रास्ते को बांस बल्ला लगाकर सील कर दिया। गौरतलब हो कि पटना में संक्रमित हुए एक युवक ने गांव में आकर पंद्रह दिन पहले अखंड संकीर्तन व तिलक समारोहों में शिरकत कर गांव के एक बड़ी आबादी काे संक्रमित कर दिया। बाद में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गांव के पैंसठ लोगों के सैंपल जांच को भेजे थे जिसमे से पैंतीस की रिपोर्ट आ गई है जिसमें दस पॉजिटिव पाए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *