जहानाबाद में पांच पॉजिटिव, मरीजों को भेजा गया है आईसोलेशन सेंटर

जिला प्रशासन के कार्यालय में कोरोना का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। कोरोना का चेन विस्तारित होकर अब सीएस कार्यालय और जिला स्वस्थ्य समिति तक बढ़ गया है। कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ते जा रहा है। बुधवार को सदर अस्पताल में ट्रू नेट जांच में 11 लोगों का कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। संक्रमण ने सिविल सर्जन कार्यालय में कोहराम मचा दिया है। सिविल सर्जन कार्यालय में कार्यरत छह कर्मियों का रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, जिसमें सिविल सर्जन का ड्राइवर भी शामिल है।

वहीं जिला स्वस्थ्य समिति भी अब अछूता नहीं रहा। स्वास्थ्य समिति में कार्यरत एक व्यक्ति का रिपोर्ट पॉजिटिव निकला है। सदर प्रखंड के ही मोथा के एक व्यक्ति का रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिला में लगातार बढ़ रहे पॉजिटिव मरीजों की संख्या से प्रशासनिक महकमा में हड़कंप मचा हुआ है। कोरोना का चेन अब लम्बा होते जा रहा हैं।  इस तरह जिला में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 141 हो गई है, जिसमें 106 लोग ठीक होकर घर चले गए हैं। 35 लोगों का इलाज अस्पतालों में चल रहा हैं। करपी प्रखंड क्षेत्र के कोचहासा गांव स्थित रविदास टोला में कोरोना के तीन पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद गांव में दहशत का माहौल कायम हो गया।
मरीजों को भेजा गया है आईसोलेशन सेंटर
मरीजों को स्वास्थ विभाग की टीम ने बुधवार को आइसोलेशन वार्ड अरवल में इलाज के लिए एम्बुलेंस से भेजा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रसादी इंग्लिश निवासी 28 वर्षीय युवक 24 जुलाई को कोचहासा फुआ के घर शादी समारोह में आया था। 25 जुलाई को तिलक एवं 28 जुलाई को कोचहासा से मसाला दरियापुर बारात गया था। इस दौरान कोरोना पॉजिटिव युवक कोचहासा में एक सप्ताह रहा। इस दौरान इससे कई लोग संपर्क में आए।

जांच के दौरान कोचहासा निवासी कोल्ड फील्ड से वॉलेंटियर रिटायर्ड 55 वर्षीय एवं पुत्र 24 वर्षीय तथा पुत्री 22 वर्षीय को कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आते ही तीनों को स्वास्थ्य टीम अरवल ले गई। इस बाबत वार्ड सदस्य देवबली रविदास ने स्वास्थ्य टीम से दूल्हा-दुल्हन समेत 50 लोगों को शीघ्र ही कोरोना जांच करवाने की मांग की है। वार्ड सदस्य ने बताया कि प्रसादी इंग्लिश के युवक फुआ घर के कर्ताधर्ता था। तिलक एवं बारात में कई लोगों के सम्पर्क में था।

केस मिलने के बाद लोगों में दहशत
एक ही घर के तीनों परिवार को आइसोलेशन वार्ड में ले जाने के बाद लोग दहशत में है। ग्रामीणों ने बताया कि धान रोपण होने के कारण किसान लोग सुबह शाम मजदूर के लिए उसी टोला में बराबर आया जाया करते थे। अकारण कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद किसान उस टोला से मजदूरों को खेत में काम नहीं करने की अपील की है। सदर अस्पताल के उपाधीक्षक सह प्रभारी सिविल सर्जन डॉ रमन आर्यभट्ट ने बताया कि 11 लोगों का जांंच रिपोर्ट पॉजिटिव आया है, जिसमें आठ पुरूष और तीन महिला शामिल हैं।सभी को आइसोलेशन वार्ड में रखकर इलाज किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *