जहानाबाद पुलिस : तकनीकी सेल को किया गया सक्रिय (साइबर अपराध से जुड़े गिरोह होंगे ध्वस्त)

साइबर अपराध और जिले में सक्रिय साइबर अपराध गिरोह को पूरी तरह ध्वस्त करने के लिए जहानाबाद पुलिस ने तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए पुलिस ने अपनी एक नई रणनीति तैयार की है। इस रणनीति के तहत तकनीकी सेल को सक्रिय किया गया है। इसके लिए एक मॉनिटरिंग सेल भी बनाया गया है, जिसकी मॉनिटरिंग एसपी दीपक रंजन खुद कर रहे हैं।

एसपी ने बताया कि जहानाबाद जिले में साइबर अपराध की तफ्तीश में पुलिस काफी सुस्त रही है। साइबर अपराध से जुड़े मामले में समीक्षा करने के बाद यह बात देखने को मिली है कि इसके अनुसंधान में अनुसंधानकर्ता द्वारा अपेक्षाकृत कार्य नहीं किया गया है। तकनीकी सेल का भी आवश्यकता अनुरूप सहयोग नहीं लिया गया है। उन्होंने बताया कि साइबर अपराध से जुड़े सभी मामले की बारी बारी से समीक्षा की जा रही है और अनुसंधानकर्ता से केस का अपडेट लिया जा रहा है।

उन्होंने दावा किया कि उनका प्रथम लक्ष्य साइबर अपराध के मामले का भंडाफोड़ करना है। मध्य प्रदेश की पुलिस द्वारा साइबर अपराध के मामले में गिरफ्तार धीरज और रोशन के मामले में एसपी ने बताया कि जहानाबाद पुलिस लगातार मध्य प्रदेश पुलिस के संपर्क में है। उन्हें बताया गया है कि अनुसंधान के क्रम में यदि जहानाबाद से जुड़े मामले में इन दोनों की संलिप्तता सामने आती है तो निश्चित रूप से इसकी जानकारी जहानाबाद पुलिस को दें।

बैंक व ग्राहक सेवा केंद्र की कराई जा रही नियमित जांच

एसपी ने बताया कि साइबर अपराध को रोकने एवं गिरोह पर नकेल कसने के लिए हर स्तर पर कसरत शुरू कर दी गई है। तकनीकी सेल को सक्रिय करने के अलावा जिले में संचालित सभी बैंक एवं ग्राहक सेवा केंद्र की नियमित जांच कराई जा रही है। इसके अलावा साइबर अपराध से जुड़े मामले में जुटे अनुसंधानकर्ता को भी बेहतर प्रशिक्षण देने की तैयारी की जा रही है ताकि साइबर अपराध पर नकेल कसा जा सके। एसपी ने बताया कि उनका प्राइम फोकस साइबर अपराध से जुड़े हर मामले का उद्भेदन है। इसके लिए हर स्तर पर सारी चीजों को दुरुस्त किया जा रहा है। आने वाले दिनों में साइबर अपराध के मामले का लगातार भंडाफोड़ होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *