जहानाबाद : एटीएम और सिम कार्ड गायब कर उड़ाए रुपए

जिले में साइबर फ्रॉडों का आतंक लगातार जारी है। सबसे मुश्किल स्थिति यह लग रही कि फ्रॉड किस जगह किस रूप में आपके पास रह रहा है, इसे पहचानना एक चुनौती बनी हुई है। ताजा खुलासा का यह ममला एक मकान मालिक के साथ उसके किराएदार के द्वारा किए गए साइबर फ्रॉड से जुड़ा है। दरअसल अपने मकान मालिक की एटीएम और सिम कार्ड गायब कर उसके खाते से लगभग दो लाख 60 हजार रुपए की चपत लगाने वाला साइबर फ्रॉड रवि रंजन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस की गिरफ्त में आया साइबर फ्रॉड भेलावर ओपी क्षेत्र के पैगंबरपुर का रहने वाला है।

एएसपी हरिशंकर कुमार ने साइबर फ्रॉड की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए बताया कि बीते साल दिसंबर महीने में कैदी वाहन के चालक श्यामनंदन प्रसाद ने नगर थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराते हुए आरोप लगाया था कि उसके खाते से साइबर अपराधियों ने लगभग दो लाख 60 हजार रुपए की निकासी कर ली है। मामला प्रकाश में आने के बाद पुलिस अनुसंधान में जुटी थी। अनुसंधान के क्रम में पुलिस ने वैज्ञानिक एवं तकनीकी जांच के आधार पर रवि रंजन तक पहुंची।

मामले का भंडाफोड़ होते ही पुलिस ने दबोचा
साक्ष्यों के आधार पर पुलिस ने मामले का भंडाफोड़ करते हुए रवि रंजन को हिरासत में लिया है। इधर मखदुमपुर थाना क्षेत्र के कलुआचक नारायपुर निवासी श्याम नंदन प्रसाद ने बताया कि वह वर्तमान में कैदी वाहन के चालक पद पर कार्यरत हैं। टेहटा बाईपास पर उनका अपना मकान है। उसी मकान में रवि रंजन किराए पर एक दुकान लेकर मोबाइल रिचार्ज करने एवं मरम्मत करने का काम करता था। वे यदा-कदा उसी के दुकान में उठते बैठते थे।

अज्ञात के खिलाफ दर्ज की गई थी एफआईआर
इस संदर्भ में उन्होंने नगर थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। पुलिस मामले की जांच कर रही थी। जांच के क्रम में पुलिस ने साक्ष्य के आधार पर रवि रंजन को गिरफ्तार किया। उनका कहना है कि कुछ दिन पहले से ही उन्हें आभास हो रहा था कि इस घटना में जान पहचान का ही कोई आदमी शामिल है। इधर, रवि रंजन की गिरफ्तारी के बाद एक बार फिर से जिले में संचालित साइबर कैफे एवं मोबाइल दुकान के संचालकों पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं।

मुंबई से लौटे युवक को झांसा देकर फ्रॉडों ने ठग लिए 4800
होली पर्व के नजदीक आते ही जिले में फिर से ठगों का गिरोह हर सार्वजनिक जगहों पर सक्रिय हो गया है। ताज़ा मामला नगर थाना क्षेत्र के बस स्टैंड के समीप का है, जहां शनिवार की सुबह मुंबई से काम कर लौट रहे एक युवक मनीष कुमार को ठगों ने अपना शिकार बनाकर 4800 रुपये ठग लिए। ठगी के शिकार मनीष ने बताया कि वह आज ही मुंबई से लौटा है। ट्रेन से उतरने के बाद अपने घर हुलासगंज जाने के लिए स्टेशन के समीप बस के इंतजार में खड़ा था। इसी दौरान दो लोग आए और कहने लगे कि उनलोग पोस्टऑफिस में काम करते हैं।

वे लोग ऑफिस के काम से 4-5 लाख रुपये ले कर हुलासगंज जा रहे हैं। आइए आप को भी छोड़ देते हैं। इसके बाद वह जाने लगा तो उनलोगों ने कहा कि उसके पास जितने भी पैसे हैं, उसे दे दीजिए। उसे अलग रख देता हूँ, नहीं तो ऑफिस के पैसे के साथ मिल जाएंगे। इसके बाद उसने अपने पास रखे 4850 रुपया उनलोगों को दे दिया। रुपये लेने के बाद उनलोगों ने कहा कि आप यहीं रुकिए और पैसे रख कर आता हूं। इतना कहने के बाद पैसे रखने के बहाने गायब हो गए। इधर, मामला प्रकाश में आने के बाद पुलिस घटना की जांच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *