जहानाबाद: लाठी और डंडे से नहीं दबेगी विरोधियों की आवाज, तानाशाही का जमकर होगा विरोध

पुलिस बिल को लेकर मंगलवार को पटना में विरोधी विधायकों पर पुलसिया कार्रवाई के विरोध में यहां राष्ट्रीय जनता दल ने एक विरोध मार्च निकालकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पुतला फूंककर अपना विरोध दर्ज कराया। कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे जिलाध्यक्ष महेश ठाकुर ने कहा कि सड़क से लेकर सदन तक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लोकतंत्र का गला घोंट रहे हैं। विधानसभा में पुलिस बिल का विरोध कर रहे विरोधी विधायकों की पिटाई कराकर सरकार ने लोकतंत्र की मर्यादा को तोड़कर तानाशाही पूर्ण रवैया अपनाने का संकेत दिया है।

विधायकों पर जिस तरह से लाठी डंडा चलवा कर उनकी आवाज को दबाने की कोशिश की गई है, इससे विरोध का आवाज आगे और बुलंद होगा। सरकार के रवैये का विरोध करते हुए राजद के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने यहां अंबेडकर चौक से विरोध मार्च निकालकर अरवल मोड़ पहुंचे और सीएम नीतीश कुमार का पुतला दहन किया। कार्यकर्ताओं ने वहां सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। पार्टी नेताओं ने कहा कि नीतीश कुमार जिस तरह से विरोधियों की आवाज दबाने के लिए दमन का सहारा ले रहे हैं, यह राज्य की जनता देख रही है।

इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। आखिर आम जनता के आवाज को ज्यादा दिन तक नहीं दबा सकते। पुलिस बिल लाने की मंशा स्पष्ट है। पुलिस को फालतू का अलोकतांत्रिक अधिकार देकर आम लोगों के अधिकारों को कुचलने की इस अलोकतांत्रिक कोशिश को कभी भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सरकार की तानाशाही के खिलाफ विरोधी एकता और मजबूत हो रही है। सरकार को इसका खामियाजा भुगतना होगा। पुतला दहन में अशोक वर्मा, रामबाबू पासवान, आदित्य मिस्त्री, वैकुंठ यादव, नौशाद आलम,अरविंद चंद्रवंशी, पिंटू कुमार, शैलेश यादव, सोनू सहित कई अन्य नेता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *