जहानाबाद: बिजली की चोरी रोकने के लिए बनायी गयी टीम, घर-घर की जाएगी छापेमारी

बिजली चोरी व बिना लोड बढ़वाए अवैध रूप से स्वीकृत लोड से अधिक बिजली इस्तेमाल करने वालों के लिए यह खबर अलार्मिंग है। दरअसल बिजली कंपनी की टीम अब घरेलू व व्यवसायिक सभी प्रकार के उपभोक्ताओं के परिसर में छापेमारी करेगी। इसको लेकर अब कंपनी के अधिकारियों ने करवाई भी शुरू कर दी है। विभाग के एक्जीक्यूटिव इंजीनियर अनिल कुमार ने बताया कि बिजली की चोरी से न सिर्फ राजस्व का नुकसान हो रहा है बल्कि इससे पूरी आपूर्ति व संचरण व्यवस्था पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। घर-घर छापेमारी को लेकर कंपनी ने जेई के नेतृत्व में अवर प्रमंडल वार टीम का गठन भी कर लिया है। टीम में शामिल बिजली कंपनी के जेई छापेमारी के दौरान घर मे चल रहे बिजली लोड का ऑन स्पॉट जांच करेंगे।

जांच के दौरान उपभोक्ता के घर वास्तविक लोड स्वीकृत लोड से ज्यादा पाए जाने पर संबंधित उपभोक्ता पर जुर्माना लगाते हुए नियमानुसार बिजली चोरी की प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी। विभागीय अधिकारियों ने बताया कि ऐसी आशंका है कि कई उपभोक्ता एक किलोवाट का कनेक्शन लेकर ही अनाधिकृत रूप अधिक बिजली का उपयोग कर रहे हैं। इससे कंपनी को राजस्व की हानि तो हो रही है, साथ ही लोड बढ़ने से लो वोल्टेज व आपूर्ति में बाधा की भी समस्या उत्पन्न हो जा रही है।

ट्रांसफॉर्मर पर लोड ज्यादा होने के कारण हो रही है परेशानी
ऐसा माना जा रहा है कि अधिकारियों व विभाग की नजर से बचने के लिए कई उपभोक्ता दिन के बजाए रात के समय एक किलोवाट कनेक्शन पर एयर कंडीशन, फ्रिज, वाशिंग मशीन, आयरन, इंडक्शन जैसे अधिक भार के उपकरण चला रहे हैं। इससे ट्रांसफार्मर पर लोड बढ़ने के कारण रात में लो वोल्टेज की समस्या आ रही है। वही उपभोक्ताओं को अधिक लोड वाले उपकरणों को इस्तेमाल से पहले अपने कनेक्शन के स्वीकृत भार को बढ़ा लेने पर कंपनी को यह अनुमान लगाने में आसानी होगी कि किसी क्षेत्र में ट्रांसफर्मर की क्षमता विस्तार की आवश्यकता है या नही।

एसी लगे घर की बिजली लोड की पहले होगी जांच | एक्जीक्यूटिव इंजीनियर ने बताया कि लो वोल्टेज की शिकायत मिलने पर की गई पहली जांच में यह पाया गया कि एक किलोवाट लोड लेकर बिजली उपयोग कर रहे कई उपभोक्ता रात में एसी का उपयोग कर रहे हैं। हालांकि अधिक लोड होने पर बिल में पेनाल्टी का प्रावधान पहले से ही है। फिर भी उपभोक्ताओं में जागरुकता फैलाने व अवैध चोरी से बचाव के लिए कंपनी की टीम पहले दौर में एसी लगे घरों में बिजली लोड का जांच करेगी। उसके बाद सामान्य उपभोक्ताओं के घरों का बिजली लोड का जांच कराई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *