जहानाबाद : तीसरी लहर की संभावनाओं के बीच बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति सतर्कता बरतने की जरूरत

कोरोना की दूसरी लहर लगभग थम गयी है। तीसरी लहर की आशंका को लेकर स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन तैयारी में जुटा है। ऐसी आशंका है कि तीसरी लहर में बच्चे अधिक संक्रमित हो सकते हैं। सदर अस्पताल स्थित नवजात शिशु देखभाल इकाई के प्रभारी व शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ अरुण कुमार ने बताया कि कोरोना काल में बच्चों की सुरक्षा के प्रति लोगों को सचेष्ट रहने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि बच्चों को चूमने व हाथ मिलाने से परहेज करें क्योंकि इससे उन्हें संक्रमण का खतरा हो सकता है।

उन्होंने बताया कि बच्चों को घर से बाहर निकालने से बचें। खास कर घर में अगर कोई सदस्य बीमार है तो उससे दूर ही रखें। बच्चों को भीड़भाड़ वाली जगहों, सभाओं व समारोहों में ले जाने से परहेज करें बच्चों में सरदर्द, बुखार, बदन दर्द, गले में खराश, सूखा कफ, भूख की कमी, कमजोरी, दस्त, गालों व आंखों में दर्द होने पर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र या शिशु रोग विशेषज्ञ से अवश्य सलाह लें। बच्चों की साफ सफाई का ध्यान रखना जरूरी है। बच्चों को नियमित रूप से स्नान करायें हाथों को साबुन पानी से धोने के तरीकों की जानकारी दें और ऐसा नियमित रूप से करने के प्रति जागरूक करें। छोटे बच्चों की देखभाल के दौरान परिवार के सदस्य हाथों को पहले धोयें अथवा सैनिटाइज करें। तकिया के खोल व चादर को नियमित बदलें। बच्चों के खिलौने व अन्य वस्तुओं को भी सैनिटाइज करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *