जुलाई माह व्रत त्योहार के लिए बेहद खास, 25 से सावन शुरू तो गुरु पूर्णिया भी इसी माह

आध्यात्म की नजर से जुलाई का माह बेहद खास होगा। जुलाई महीने में कई महत्वपूर्ण व्रत और त्योहार पड़ रहे हैं। जुलाई की शुरुआत जहां कालाष्टमी व्रत से हो रही है तो वहीं इस माह का अंत भी कालाष्टमी व्रत से ही होगा। आषाढ़ गुप्त नवरात्रि पर्व, भगवान जगन्नाथ रथयात्रा, गुरु पूर्णिमा भी जुलाई माह में होगी।

हिन्दू पंचांग के अनुसार आषाढ़ महीने का समापन होगा तो सावन माह की शुरुआत भी होगी। देवशयनी एकादशी से चातुर्मास भी जुलाई से लग जाएंगे। इसके अलावा गुरू पूर्णिमा व्रत भी इसी माह में पड़ रहा है। इन सबके अलावा भी जुलाई में कई महत्वपूर्ण व्रत त्योहार आएंगे। जुलाई माह कैलेंडर का सातवां महीना होता है। जुलाई में गर्मी, उमस और बरसात इन तीनों का अनुभव मिलता है। इस बार व्रत-त्योहारों के लिए जुलाई माह बेहद खास है।

ज्योतिर्विद पं.सचिन कुमार दूबे ने बताया कि जुलाई माह की शुरुआत एक तारीख को बाबा भैरव नाथ के कालाष्टमी व्रत से होगा। पांच जुलाई को योगिनी एकादशी होगा। सात जुलाई को प्रदोष व्रत, आठ जुलाई को मासिक शिवरात्रि, नौ जुलाई को आषाढ़ अमावस्या, 11 जुलाई से गुप्त नवरात्रि आरंभ होगी। जो 18 तक चलेगा इसमें मां शक्ति की आराधना होगी। 12 को जगन्नाथ रथ यात्रा, 13 को विनायक चतुर्थी, होगा। 24 को गुरु पूर्णिमा, और 25 जुलाई को देवाधिदेव महादेव का पवित्र महिना सावन का आरंभ होगा। अर्थात जुलाई का यह पवित्र माह व्रत त्योहार के नाम रहेगा। श्रद्धालु पूजा पाठ कर अध्यात्म में तल्लीन रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *