जहानाबाद: नई तकनीक से बनेगा राशन कार्ड, मनमानी पर लगेगा नियंत्रण

सरकार की ओर लागू वन नेशन-वन कार्ड योजना से जिले के डीलरों की मनमानी पर न सिर्फ रोक लगेगी। बल्कि कोई भी लाभुक देश के किसी कोने में अपने हक के अनाज का उठाव कर सकता है। नयी तकनीक वाली व्यवस्था से खासकर प्रवासी मजदूरों को काफी सहुलियत होगी। कोविड के समय में आर्थिक तंगी से जूझ रहे प्रवासी मजदूरों और गरीबों को काफी राहत मिलेगी। वैसे यह व्यवस्था लागू हो चुकी है। लेकिन गांवों के अधिकांश गरीबों को इसकी जानकारी नहीं है। इससे पहले लाभुकों को उनके गांव या मुहल्ले के डीलर के साथ जोड दिया जाता था।

लाभुकों की मजबूरी यह थी कि अब राशन संबंधित डीलर के यहां से ही लेनी है। ऐसे में डीलर की मनमानी बढने लगती थी। यह शिकायत आम होने लगी कि कम वजन और निर्धारित से अधिक पैसा डीलर वसूल रहा है। विरोध करने पर लाभुकों को कभी-कभी दबंग डीलरों का कोपभाजन का शिकार भी बनना पड़ रहा था। इस तरह की शिकायतें जिला मुख्यालय से लेकर लोक शिकायत तक पहुंचने लगी थी। गरीबों के हक के अनाज की कालाबाजारी भी बडे पैमाने पर होने लगी थी। अधिकारियों का मानना है कि नयी व्यवस्था से न सिर्फ डीलरों की मनमानी पर रोक लगेगी, बल्कि भ्रष्टाचार पर भी अंकुश लगेगा।

जिले में ऐसे गरीबों की संख्या अधिक है। जिनके पास राशन कार्ड है। लेकिन रोजी-रोटी के लिए परदेश कमाने जाने के कारण उनके हक का अनाज नहीं मिल पाता था।कमाई का एक बड़ा भाग भोजन पर खर्च करना पड़ रहा था। लेकिन वन नेशन-वन कार्ड की नयी व्यवस्था से अन्य प्रदेशों में काम करने वाले प्रवासी मजदूरों को कही और किसी भी डीलर से अनाज लेने की सुविधा मिल गयी है।अब कोई भी प्रवासी या गरीब पूरे देश में किसी डीलर के यहां से अनाज ले सकता है। इस व्यवस्था को कारगर बनाने के लिए मंत्रालय ने मेरा राशन ऐप नामक एप लॉच किया है। यह ऐप खासकर प्रवासी मजदूरों के मदद के लिए लॉच किया गया है। गूगल प्ले स्टोर से इस ऐप को लाभुक लोड कर सकते है। इसके माध्यम से नजदीक के राशन दुकान और अनाज की मात्रा के बारे में जानकारी मिल सकती है।

दस डिजीट का बनाया जाएगा राशन कार्ड
वन नेशन-वन कार्ड के तहत एक तरह का कार्ड बनना है। डीएसओ अमलेंदु कुमार ने बताया कि नयी व्यवस्था में ज़िले के लाभुकों को दस डिजीट का कार्ड बनना है। फिलहाल जिले में लाभुकों का राशन कार्ड 20 से 25 डिजीट का है।फिर भी उपरोक्त राशन कार्ड से लाभुक देश के किसी कोने में राशन ले सकते है। उन्होंने बताया कि यदि कार्ड नंबर से राशन कार्ड नहीं खुलता है,तो आधार नंबर डालते ही कार्ड खुल जाएगा।डीएसओ ने बताया कि नयी व्यवस्था से लाभुकों को काफी सहूलियत होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *