जहानाबाद: पुलिस और एसटीएफ ने कार्बाइन व ‌~2.85 लाख के साथ 5 हथियार तस्करों को दबोचा

किंजर पुलिस एवं एसटीएफ ने संयुक्त अभियान में कारबाईन, कारतूस व दो लाख पचासी हजार रुपए नकद के साथ पांच हथियार तस्करों को धर दबोचा। दरअसल इस संबंध में एसपी राजीव रंजन को मंगलवार की रात गुप्त सूचना मिली थी कि कुर्था-किंजर मुख्य सड़क पर एक निजी वाहन पर सवार होकर अपराधी गिरोह के सदस्य गुजर रहे हैं। सूचना पर एसटीएफ व किंजर थाने की पुलिस ने किंजर-कुर्था सड़क पर मंगरा हाट मेला के पास वाहन चेकिंग शुरू की। इसी दौरान पुलिस को देखकर कार पर सवार गाड़ी को घुमाने लगे। पुलिस को जब उनकी हरकतों पर शक हुआ तो तुरंत मौके पर उन्हें घेरकर वाहन को अपने कब्जे में लेकर उस पर सवार लोगों से पूछताछ व सघन जांच पड़ताल शुरू कर दी।

जांच के क्रम में एक रेगुलर कार्बाइन, 9 एमएम का जिंदा कारतूस पांच पीस, पॉइंट थ्री एमएम की गोली छह पीस, 9 मोबाइल, नगद दो लाख पचासी हजार आठ सौ रुपए, एक बलेनो कार सहित कार पर सवार चालक सहित पांच लोग गिरफ्तार कर लिया। किंजर पुलिस को जब्त सामान के बाद में पकड़े गए लोगों ने कोई माकूल जवाब नहीं दिया। एसपी राजीव रंजन ने किंजर थाना परिसर में प्रेस कांफ्रेंस कर पूरे मामले की जानकारी देते हुए बताया कि सभी पकड़े गए अपराधी गिरोह में शामिल हैं और वे अवैध आर्म्स की आपूर्ति करते हैं। गिरोह के लोगों का शराब के बड़े आपूर्तिकर्ताओं से भी संबंध है। इसके अलावा पकड़ में आए लोग पटना में विवादित जमीन को कब्जा कराने में भी महारथ हासिल किए हुए हैं।

गिरफ्त में आए अपराधियों का अंतरजिला नेटवर्क है सक्रिय
पकड़े गए लोगों में शंभू यादव उर्फ छोटू धनाओं, थाना जम्होर, जिला औरंगाबाद, वर्तमान पता साईंचक मधुपुर थाना बेऊर पटना है। संजीत कुमार उर्फ छोटू गांव दनाड़ा,थाना बिक्रम, जिला पटना, अजय कुमार ग्राम मझौली, थाना विक्रम जिला पटना, अमर नाथ महतो ग्राम नरगदा ढ़िबरा, थाना शाहपुर, जिला पटना मनजीत कुमार, मीठापुर पटना गया लाइन गुमटी थाना जक्कनपुर पटना बताया जाता है। पुलिस को अपराधी गिरोह के सदस्यों ने बताया कि वे लोग कार्बाइन गया जिले के मऊ बाजार स्थित रामदीप शर्मा उर्फ दिपी थाना मऊ से लेकर पटना ले जा रहे थे। एसपी ने बताया कि पकड़े गए लोगों में संजीत कुमार उर्फ छोटू पर विभिन्न थानों में दर्जनों मामले दर्ज हैं। साथ ही पकड़े गए अपराधियों में शंभू यादव उर्फ छोटू तथा अमरनाथ महतो झारखंड एवं यूपी से बिहार के विभिन्न जिलों में अंग्रेजी शराब का आपूर्ति का बड़े पैमाने पर काम करता है। कुल मिलाकर अपराधियों का एक अंतरजिला नेटवर्क है जिसके माध्यम से वे विभिन्न जगहों पर संगठित अपराध को अंजाम देते हैं।

गिरोह के बदमाशों के पकड़ में आने से पटना जिले में बड़ी वारदात होने से बची
एसपी ने बताया कि यह गिरोह पटना में भी जगह जमीन मामले में घौंस देकर जमीन का कब्जा कराता था। पकड़े गए अपराधियों से मिली इनपुट से पता चला है कि इस गिरोह को पकड़े जाने से पटना शहर में एक बड़ी वारदात होने से बच गई। साथ ही कई शराब माफिया एवं अवैध शराब के विक्रेता की भी पहचान हुई है। इसके गिरफ्तारी से इसके सरगना के पास भी पुलिस शीघ्र पहुंचेगी। पकड़ा गया अपराधी संजीत उर्फ छोटू तीन माह पूर्व जेल से छूट कर आया है। थानाध्यक्ष मनोज कुमार, सअनि कमलेश पांडे, सहित कई पुलिस अधिकारी मौजूद थे। दरअसल में जमीन और अवैध शराब के कारोबार से जुड़े लोग बड़े शातिर थे पुलिस को भरमाने के लिए कार में बच्चे को मोहरा बनाकर यह लोग हथियार सप्लाई करने का काम करते थे। हथियार के साथ कार में एक बच्चा को बैठाया गया था, जिससे पुलिस को शक ना हो। अक्सर वे अपने धंधेबाजी के लिए यात्रा में कम उम्र के बच्चों को साथ रखते हैं ताकि किसी को यह शक नहीं हो कि वाहन पर अपराधी हो सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *