जहानाबाद: बीडीओ साहब जिससे रोज चाय पीते हैं उसी को मृत बता रोक दी पेंशन

सिस्टम का खेल भी बड़ा निराला है। दरअसल काको प्रखंड कार्यालय में बीडीओ, सीओ सहित तमाम अधिकारी एवं कर्मियों को चाय पिलाने वाले एक बुजुर्ग व्यक्ति को प्रखंड में ही कार्यरत एक कर्मी ने मृत घोषित कर उनका वृद्धावस्था पेंशन रोक दिया है। दरअसल पूर्वी काको पंचायत यानि वर्तमान में नगर पंचायत काको के सातनपुर गांव निवासी इन्दरसन साव अपनी पत्नी के साथ विगत बीस वर्षों से अधिक समय से प्रखंड परिसर में एक पेड़ के नीचे चाय दुकान संचालित कर रहे हैं। प्रखंड परिसर में संचालित अमूमन कार्यालयों के पदाधिकारी एवं बाबू उनके चाय दुकान से चाय मंगवा कर दिन में कई-कई बार पीते हैं। इसी प्रखंड के एक कर्मी के द्वारा उन्हें कुछ माह पूर्व मृत घोषित कर दिया गया है। जिससे वृद्धावस्था पेंशन विगत फरवरी माह से मिलना बंद हो गया है।

पासबुक को अपडेट कराने पर मिली जानकारी

जब बुजुर्ग ने बैंक जाकर अपना पासबुक अपडेट कराया तो उन्हें यह मालूम हुआ कि जनवरी माह के बाद उनका वृद्धावस्था पेंशन नहीं आया है। इस बात की भनक चाय विक्रेता को लगी तो वह भागे-भागे प्रखंड कार्यालय में कार्यरत पदाधिकारियों एवं बाबू के पास पहुंचा। जब इस संबंध में उन्होंने बाबुओं से शिकायत की कि उन्हें वृद्धावस्था पेंशन मिलना बंद हो गया है तो उन लोगों ने उन्हें पुनः वृद्धावस्था पेंशन शुरू कराने का भरोसा दिलाते हुए बताया कि भूलवश पंचायत सेवक एवं विकास मित्र की जांच रिपोर्ट के अधार पर उन्हें मृत घोषित कर दिया गया है। इसी वजह से उन्हें पेंशन मिलना बंद हो गया है।

जल्द ही पुनर्जीवित कर दी जाएगी पेंशन : बीडीओ
इस संबंध में पूछे जाने पर बीडीओ संजीव कुमार ने बताया कि कर्मियों के भूलवश यह स्थिति उत्पन्न हुई है। उन्होंने कहा कि जल्द ही उन्हें पुनर्जीवित करते हुए उनका पेंशन मिलना प्रारंभ करा दिया जाएगा। कर्मियों की इस करतूत से सरकारी बाबूओं की कार्य संस्कृति खुद गुहार करती है कि वे कितनी जिम्मेदारी से अपने दायित्वों का निर्वहन करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *