बिहार में अब अनलॉक-4, CM ने किया ऐलान:11वीं-12वीं और कॉलेजों में 50% स्टूडेंट आ सकेंगे, सरकारी ऑफिस भी नार्मल तरीके से खुलेंगे; होटल-रेस्टोरेंट में 50% लोग बैठेंगे

बिहार में अनलॉक-4 का ऐलान कर दिया गया है। यह बुधवार 7 जुलाई से लागू होगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी है। बिहार में अब 11-12वीं के सभी शिक्षण संस्थान और इससे ऊपर के कॉलेज 50% स्टूडेंट्स की उपस्थिति के साथ खुल सकेंगे। इसके अलावा सभी सरकारी कार्यालयों को सामान्य रूप से खोलने की अनुमति दे दी गई है। इन कार्यालयों में वो बाहरी व्यक्ति आ सकेंगे, जिन्होंने कोरोना का टीका ले लिया है।

CM ने कहा है कि बिहार में अब सभी होटल और रेस्टोरेंट भी 50% बैठने की क्षमता के साथ खुल सकेंगे। उन्होंने कहा कि स्कूल-कॉलेजों में 18 वर्ष से ऊपर के स्टूडेंट्स के लिए वैक्सीनेशन की विशेष व्यवस्था की जाएगी। बिहार में अनलॉक-4 के बारे में डिटेल गाइडलाइंस शाम तक जारी किए जाएंगे।

कोरोना संक्रमण में गिरावट, लेकिन अभी भी नए मामले मिल रहे

बिहार में 4 जून से अनलॉक शुरू हुआ है। लॉकडाउन और अनलॉक के दौरान भी कोरोना संक्रमण में गिरावट आई है। लेकिन अभी भी राज्य में 100 से अधिक नए मामले प्रतिदिन मिल रहे हैं। जिलों से भी सुझाव आए हैं कि पूरी तरह से पाबंदियों को अभी नहीं हटाया जाना चाहिए। CM लगातार क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के साथ मीटिंग कर स्थिति पर नजर रखे हुए हैं।

अभी यह पाबंदियां 23 जून से 6 जुलाई तक जारी हैं

  • अभी सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, स्टेडियम, जिम, स्कूल और कॉलेज बंद हैं।
  • सरकारी स्कूल/कॉलेजों में किसी तरह की परीक्षा नहीं होगी।
  • सभी धार्मिक स्थल, सामाजिक/राजनीतिक/मनोरंजन/ खेलकूद/ शैक्षणिक/ सांस्कृतिक व धार्मिक आयोजन/समारोह पर प्रतिबंध जारी है।
  • सार्वजनिक स्थलों पर किसी भी प्रकार के सरकारी एवं निजी आयोजन पर रोक जारी है।
  • सभी रेस्टोरेंट्स/होटल/ढाबे में से खाने के सामान की होम डिलीवरी/टेक होम की सुविधा ही मिल रही है।
  • आवासीय होटलों में रुके गेस्ट्स के लिए इन-रूम डाइनिंग की सुविधा है।

जरूरी सरकारी-निजी सेवाओं में इनको छूट मिली है

  • जिला प्रशासन, पुलिस, सिविल डिफेंस, विद्युत आपूर्ति, जलापूर्ति, स्वच्छता, फायर ब्रिगेड, स्वास्थ्य, आपदा प्रबंधन, दूरसंचार, डाक विभाग से संबंधित कार्यालय।
  • बैंकिंग, बीमा, एवं ATM से जुड़ी सेवाएं, औद्योगिक एवं विनिर्माण कार्य से संबंधित प्रतिष्ठान। सभी प्रकार के निर्माण कार्य (Construction Works)।
  • E-commerce से जुड़ी सारी गतिविधियां, कृषि एवं इससे जुड़े कार्य। कोल्ड स्टोरेज एवं वेयर हाउसिंग सेवाएं।
  • प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, टेलीकम्यूनिकेशन, इंटरनेट सेवाएं, ब्रॉडकास्टिंग एवं केबल सेवाएं।
  • पेट्रोल पम्प, LPG, पेट्रोलियम से संबंधित खुदरा एवं भंडारण प्रतिष्ठान। निजी सुरक्षा सेवाएं।
  • आवश्यक खाद्य सामग्री तथा फल एवं सब्जी/मांस-मछली/ दूध/PDS दुकानें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *