बिहार मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार का जनता दरबार फिर शुरू, 12 जुलाई से लोगों की फरियाद सुनेंगे

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार का जनता दरबार 12 जुलाई  से शुरू होगा। सप्‍ताह में हर सोमवार को मुख्‍यमंत्री जनता से रूबरू होंगे। इसमें कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। बता दें कि पिछले सप्‍ताह 4केजी मुख्‍यमंत्री सचिवालय में बन रहे जनता दरबार के शेड का मुआयना करने सीएम गए थे।

मुख्‍य सचिव ने की बैठक, जनता दरबार की तैयारी को लेकर  

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए राज्य के मुख्य सचिव त्रिपुरारी शरण ने राज्य के आलाधिकारियों के समक्ष पूरे आयोजन की प्रस्तावित रूपरेखा रखी और आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बैठक में सभी विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रधानसचिव, गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव, डीजीपी एवं मुख्यमंत्री सचिवालय के प्रधान सचिव एवं अन्य अधिकारी शामिल थे । बैठक में जिलों से डीएम, प्रमंडलीय आयुक्त, आइजी, डीआइजी और एसपी भी शामिल हुए।

कोविड प्रोटोकॉल के तहत जनता दरबार होगा

मुख्य सचिव ने अधिकारियों से कहा कि कोविड-19 के मद्देनजर इस कार्यक्रम के संचालन के लिए संचालन प्रक्रिया विकसित की गई है। कोविड के निर्धारित प्रोटोकाल का कार्यक्रम के दौरान पालन हो इसका विशेष ख्याल रखा जाए। इससे पहले सोमवार को मंत्रिमंडल सचिवालय की ओर से इस आयोजन को लेकर जिलों को पत्र भी जारी किया गया था। पत्र में छह जुलाई की बैठक का भी हवाला दिया गया था। मुख्यसचिव की बैठक के साथ ही यह तय हो गया है कि 12 जुलाई से प्रत्येक सोमवार को जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम प्रारंभ हो जाएगा।

जनता दरबार की शुरुआत २००६ से हुई थी

मालूम हो कि 2005 में सीएम बनने के बाद नीतीश कुमार ने 2006 में जनता दरबार लगाना शुरू किया था। इसमें बिहार के कोने-कोने से फरियादी पहुंच रहे थे। यह 2016 तक सफलतापूर्वक चलता रहा। इसके बाद लोक शिकायत निवारण कानून राज्‍य में लागू हो गया। तब जनता दरबार लगना बंद हो गया था। लेकिन एक बार फिर इसकी शुरुआत होने जा रही है।  शारीरिक दूरी, मास्‍क, सैनिटाइजर समेत अन्‍य एहतियातों की व्‍यवस्‍था के अनुसार फरियादी आएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *