हेल्दी डाइट आखिर क्या है ? WHO के मुताबिक कैसे होने चाहिए बेस्ट डाइट

क्या आप जानते हैं कि हेल्दी डाइट क्या है? यानी स्वस्थ खान-पान क्या है? हेल्दी डाइट को लेकर हर इंसान अलग-अलग दलीलें देते हैं, लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने हेल्दी डाइट का पूरा ब्यौरा बनाया है। हेल्दी डाइट को लेकर WHO की साइट पर एक अलग से पेज भी बना हुआ है। WHO ने लिखा है कि अगर हेल्दी डाइट ली जाए तो व्यक्ति को जीवन में कुपोषण से नहीं लड़ना पड़ता। हेल्दी डाइट से कई बीमारियों से भी बचा जा सकता है। डाइबिटीज, दिल की बीमारी, कैंसर जैसी बिना संक्रमण वाली बीमारियों (noncommunicable diseases) से भी बचा जा सकता है। WHO का कहना है अनहेल्दी डाइट और फिजिकल एक्टिविटी में कमी के कारण हर साल लाखों लोगों को कई बीमारियों का सामना करना पड़ता है। इसलिए दुनिया को हेल्दी डाइट की ज़रूरत है। हेल्दी डाइट की ज़रूरत बच्चे के जन्म लेने और मां के दूध से ही शुरू हो जाती है। जानिए उम्र के मुताबिक कैसी होनी चाहिए डाइट।

एक वयस्क के लिए ये है हेल्दी डाइट:

  • फल, सब्जी, दाल, बींस, नट्स और साबूत अनाज (बिना प्रोसेस्ड मक्का, जौ, बाजरा, गेंहू, ब्राउन चावल)। शहर में लोग आमतौर पर प्रोसेस्ड चावल खाते हैं जो हेल्दी डाइट नहीं है।
  • कम से कम 400 ग्राम फल और सब्जी (आलू को छोड़कर) जिनमें कम से कम पांच तरह के प्रोटीन हो।
  • जितनी भी एनर्जी ली जाए उसमें किसी भी हाल में 10 प्रतिशत से ज्यादा शूगर नहीं होनी चाहिए। यह रोजाना 50 ग्राम से कम चीनी है।
  • कुल एनर्जी का 30 प्रतिशत से ज्यादा फैट नहीं हो। अनसैचुरेटेट फैट का इस्तेमाल आदर्श डाइट है। इसमें फिश, एवोकेडो, नट्स, सनफ्लावर, सोयाबिन, कैनोला और ओलिव ऑयल है।
  • फैटी मीट, बटर, पाम एंड कोकोनट ऑयल, क्रीम, चीज, घी, स्नेक्स, पिज्जा, बिस्कुट, प्री पैकेज्ड फूड आदि का इस्तेमाल बिल्कुल भी नहीं होना चाहिए।
  • ट्रांस फैट जो कि मीट में होता है, उसका सेवन कुल एनर्जी का एक प्रतिशत से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।
  • पांच ग्राम से कम नमक यानी एक चम्मच से कम नमक का ही रोजाना सेवन करना चाहिए। इस 5 ग्राम नमक में भी दो ग्राम आयोडीन हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *