बिहार में अगले महीने से शुरू हो सकती हैं मिडिल और हाईस्कूल की कक्षाएं, शिक्षा मंत्री ने दिए संकेत

पटना
बिहार में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर (Bihar Coronavirus Cases) जैसे-जैसे कमजोर पड़ रही, सरकार लगातार जरूरी छूट देने में जुटी हुई है। यूनिवर्सिटी, कॉलेज और 11वीं-12वीं की कक्षाएं शुरू होने के बाद अब प्रदेश सरकार मिडिल और हाईस्कूल की भी ऑफलाइन पढ़ाई (Bihar School Reopen Update) की तैयारी में जुट चुकी है। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने बुधवार को कहा कि अगर कोरोना के मामलों में सुधार नजर आया तो प्रदेश के मध्य और उच्च विद्यालय 6 अगस्त के बाद अपनी ऑफलाइन कक्षाएं फिर से शुरू कर सकते हैं।
‘कोरोना की स्थिति को देखते हुए लिया जाएगा फैसला’
बिहार के शिक्षा मंत्री ने कहा कि इस मामले में कोरोना महामारी पर नियंत्रण के संबंध में स्थिति की समीक्षा करने के बाद अंतिम फैसला लिया जाएगा। हम भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) की ओर से हाल ही में स्कूलों को फिर से खोलने की याचिका से प्रोत्साहित हैं। स्कूलों को अनिश्चित काल के लिए बंद नहीं रखा जा सकता क्योंकि इससे बच्चों के दिमाग पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।
स्कूल खोलने पर क्या बोले शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी
विजय कुमार चौधरी ने कहा कि सरकार सूबे के +2 स्कूलों के साथ-साथ कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में कक्षाएं फिर से शुरू होने के बाद की स्थिति का बारीकी से अध्ययन कर रही है। इसके अलावा, क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप लगातार कोरोना की तीसरी लहर के खतरे पर भी विचार कर रहा है। उन्होंने कहा कि स्कूलों को फिर से खोलने पर अंतिम फैसला जुलाई के अंतिम हफ्ते या अगस्त के पहले सप्ताह में लिया जा सकता है।

यूनिवर्सिटी में लंबित परीक्षाएं भी जल्द कराने पर विचार
शिक्षा मंत्री ने कहा कि अगर हालात में संतोषजनक सुधार होते हैं, तो विश्वविद्यालयों को जल्द ही अपनी लंबित परीक्षाएं आयोजित करने की अनुमति दी जा सकती है। इस दौरान विजय कुमार चौधरी ने बताया कि पहले चरण में प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती समाप्त हो गई है। चयनित शिक्षकों की लिस्ट मंगलवार को एनआईसी की वेबसाइट पर शेयर की गई। हालांकि, काउंसलिंग के दौरान 70 फीसदी से अधिक योग्य कैंडिडेट भर्ती के लिए शामिल नहीं हुए। उन्होंने कहा कि रिक्त पदों को भरने के लिए कुछ समय बाद काउंसलिंग के दूसरे दौर की व्यवस्था की जा सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *